यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पहुंचे बीजेपी मुख्यालय, सीटों को लेकर हो रहा मंथन

278
BJP head office meeting
BJP head office meeting

पांच राज्यों के विधानसभा चुनावों के लिए सभी पार्टियां जोर-शोर से रणनीति बनाने में जुटी हुई हैं. इस बीच भारतीय जनता पार्टी ने सोमवार को एक अहम बैठक कर रही है, जिसमें उत्तर प्रदेश के पांचवें, छठवें और सातवें चरण के उम्मीदवारों के चयन पर गहन चिंतन हो रहा है. यह बैठक दिल्ली स्थित पार्टी के मुख्यालय में हो रही है, जिसमें केंद्रीय गृह मंत्री व बीजेपी के कद्दावर नेता अमित शाह भी शामिल होने के लिए पहुंचे हैं.

बीजेपी मुख्यालय में हो रही बैठक में यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के अलावा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह, प्रदेश महामंत्री (संगठन) सुनील बंसल, उपमुख्यमंत्री केशव मौर्य, डॉ दिनेश शर्मा, चुनाव प्रभारी धर्मेंद्र प्रधान और सह चुनाव प्रभारी अनुराग ठाकुर के भी शामिल होने की बात कही जा रही है. इस बैठक में सहयोगी दलों को दी जाने वाली सीटों पर भी चर्चा होगी. जिन प्रत्याशियों के नामों पर मुहर लगेगी उन्हें फिर केंद्रीय समिति को सौंपा जाएगा. यह बैठक 25 जनवरी तक चलेगी और इस दिन केंद्रीय समिति उम्मीदवारों के नामों पर आखिरी मुहर लगाएगी.

बीजेपी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए के लिए अब तक 194 उम्मीदवारों के नामों का ऐलान कर चुकी है. पार्टी ने पहली सूची में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सहित 107 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा की थी. इसके बाद पार्टी ने बरेली जिले की दो और सीटों के लिए उम्मीदवारों के नाम की घोषणा की थी. हाल ही में बीजेपी में शामिल हुए पूर्व आईपीएस असीम अरूण को पार्टी ने कन्नौज विधानसभा सीट से अपना उम्मीदवार बनाया है.

बीजेपी ने गोरखपुर शहर से मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को और कौशाम्बी जिले की सिराथू सीट से उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य को चुनाव मैदान में उतारने की घोषणा की थी. पार्टी ने पहली सूची में जिन 107 सीटों के लिए उम्मीदवारों की घोषणा की थी, उनमें से 105 सीटों पर पहले और दूसरे चरण में मतदान होना है. गोरखपुर में छठे चरण के तहत तीन मार्च को जबकि सिराथू में पांचवें चरण के तहत 27 फरवरी को मतदान होना है. पार्टी की ओर से जारी पहली सूची में 20 विधायकों के टिकट भी काटे गए थे.

उत्तर प्रदेश की 403 सदस्यीय विधानसभा के लिए सात चरणों में मतदान होना है. 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को अकेले 312 और उसके सहयोगियों को 13 सीटों पर जीत मिली थी. सत्ता गंवाकर प्रमुख विपक्षी दल बनी समाजवादी पार्टी सिर्फ 47 सीटों पर जीत हासिल कर सकी थी. उत्तर प्रदेश में चुनाव की शुरुआत 10 फरवरी को राज्य के पश्चिमी हिस्से के 11 जिलों की 58 सीटों पर मतदान के साथ होगी. दूसरे चरण में 14 फरवरी को राज्य की 55 सीटों पर मतदान होगा. उत्तर प्रदेश में 20 फरवरी को तीसरे चरण में 59 सीटों पर, 23 फरवरी को चौथे चरण में 60 सीटों पर, 27 फरवरी को पांचवें चरण में 60 सीटों पर, तीन मार्च को छठे चरण में 57 सीटों पर और सात मार्च को सातवें चरण में 54 सीटों पर मतदान होगा.