मुख्यमंत्री केजरीवाल के 4 बड़े एलान- बिना कार्ड मिलेगा राशन, अनाथ बच्चों की शिक्षा मुफ्त, मुआवजा भी देगी सरकार

283
CM Kejriwal Meeting on Omicron

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोविड पीड़ितों के लिए बड़े एलान किए हैं। उन्होंने कहा है कि दिल्ली में जिन्हें जरूरत है लेकिन उनके पास कार्ड नहीं है तो भी उन लोगों को राशन मिलेगा। हर जरूरतमंद को महीने में 10 किलो राशन मिलेगा। वहीं ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता दोनों की मृत्यु कोरोना के चलते हो गई है उनकी शिक्षा दिल्ली सरकार कराएगी। वहीं जिनके घर में कमाने वाला एकमात्र शख्स कोरोना के चलते नहीं रहा उन्हें भी पेंशन दी जाएगी।

केजरीवाल ने कहा कि कोरोना की इस महामारी के दौरान आम आदमी को चारों तरफ से मार पड़ रही है। कोरोना की वजह से लॉकडाउन लगा और लॉकडाउन की वजह से रोजगार ठप पड़े। कई लोग ऐसे हैं जिनके घर में खाने पीने की दिक्कत होती है।

केजरीवाल ने कहा कि कई बच्चे ऐसे हैं जिन्हें मैं जानता हूं कोरोना में उनके मां-बाप चले गए। कई बुजुर्ग ऐसे हैं जिनके कमाने वाले बच्चे चले गए। बीते कुछ दिनों से हम लोग इसी पर मंथन कर रहे थे कि कैसे इस वक्त में हम ऐसे लोगों की मदद कर सकें, उनकी समस्याओं को दूर कर सकें। विचार-मंथन के बाद हमने चार फैसले लिए हैं जिससे लोगों को काफी राहत मिलेगी-

1) दिल्ली में 72 लाख लोग ऐसे हैं जिनके पास राशन कार्ड है। सरकार ऐसे लोगों को पांच किलो राशन देती है। इस महीने ऐसे लोगों को फ्री राशन दिया जाएगा। इसके साथ ही केंद्र की योजना के तहत पांच किलो राशन और दिया जाएगा। इस तरह इस महीने लोग 10 किलो राशन ले सकेंगे। लेकिन दिल्ली में कई ऐसे लोग हैं जिन्हें जरूरत है और उनके पास कार्ड नहीं है उन्हें भी राशन दिया जाएगा। दो-चार दिन में यह प्रणाली लागू हो जाएगी।

2) कई ऐसे लोग हैं जिनकी कोरोना से मौत हो गई है। आपकी इस क्षति को हम पूरा नहीं कर सकते लेकिन आपकी मदद जरूर कर सकते हैं। ऐसे लोगों को 50-50 हजार का मुआवजा (एक्स-ग्रेशिया अमाउंट) दिया जाएगा।

3) ऐसे परिवार जिसमें कमाने वाले व्यक्ति की मौत हो गई है उन्हें 50 हजार के मुआवजे के साथ 2500 रुपये का पेंशन भी शुरू किया जाएगा। पति की मौत होने पर पत्नी को, पत्नी की मौते होने पर पति को और जिनकी शादी नहीं हुई है उनके माता-पिता को पेंशन दी जाएगी। 

4) ऐसे बच्चे जो कोरोना की वजह से अनाथ हो गए हैं। ऐसे हर बच्चे को हर बच्चे को 2500-2500 रुपये हर महीने दिया जाएगा 25 साल तक और उनकी शिक्षा भी मुफ्त करवाई जाएगी।

कहां से आएगा पैसा
केजरीवाल ने कहा कि लोग बोलेंगे कि अब यह पैसा कहां से आएगा, तो हम बता दें कि हम अपने तमाम प्रोजेक्ट में पैसा बचाते हैं। भ्रष्टाचार कम होने के चलते भी पैसा बचता है। वही पैसा हम इन योजनाओं में लगाएंगे। इसके साथ ही हमने पिछले कुछ दिनों में काफी काम किया है इस बात को लेकर कि किन गैर-जरूरी खर्चों को कम कर हम इन महत्वपूर्ण योजनाओं के लिए पैसे निकाल सकते हैं। हमें उम्मीद है कि हम सफल होंगे और इस मुश्किल की घड़ी से बाहर निकलेंगे।