Chauri Chaura Shatabdi Mohotsav: PM मोदी ने चौरी चौरा शताब्दी समारोह की शुरुआत की, कहा- चौरी-चौरा के बलिदानी वीर शहीदों को प्रणाम

426

देश की आजादी में अहम भूमिका निभाने के साथ अंग्रेजों को चुनौती देने वाले गोरखपुर के चौरी चौरा कांड का आज शताब्दी वर्ष है। गोरखपुर में इसके शताब्दी महोत्सव का आगाज हो चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश की आजादी की खातिर अपना जीवन बलिदान करने वाले बलिदानियों को नमन किया। इससे पहले सीएम योगी आदित्यनाथ ने चौरी-चौरा कांड पर प्रकाश डाला।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कार्यक्रम को ऑनलाइन संबोधित करते हुए कहा – चौरी-चौरा के बलिदानी हो वीर शहीदों के चरणों में प्रणाम करता हूं आदर पूर्वक श्रद्धांजलि देता हूं। चौरीचौरा की पवित्र भूमि पर देश के लिए बलिदान होने वाले और देश के स्वाधीनता आंदोलन को नई दिशा देने वाले वीरों को प्रणाम करता हूं। देश जब आजादी के 77वे बरस में प्रवेश कर रहा है। यह आयोजन उसे और महत्वपूर्ण बना दे रहा है।

सीएम योगी आदित्‍यनाथ ने कहा कि यह शहीदों के प्रति श्रद्धा व सम्मान व्यक्त करने का माध्यम है। प्रधानमंत्री की प्रेरणा से यह शताब्दी महोत्सव आयोजित करने का निर्णय लिया। मैं आभारी हूं कि प्रधानमंत्री ने इस कार्यक्रम के उद्घाटन के लिए समय दिया है। उन्‍होंने कहा कि 4 फरवरी 1922 को स्वतंत्रता के लिए संघर्ष करने वाले तीन सेनानी शहीद हुए थे। 228 को अभियुक्त बनाया गया था। 170 लोगों में से सेनानियों को अलग अलग सजाएं हुईं। इस घटना ने स्वतंत्रता आंदोलन को नई दिशा दी थी। सीएम ने कहा कि 1857 से स्वतंत्रता प्राप्ति तक एवं उसके बाद देश की रक्षा में शहीद होने वाले जवानों के सम्मान में यह कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। हर स्मारक पर पुलिस बैंड, दीपोत्सव व राष्ट्रभक्ति गीतों के गायन का आयोजन होगा। विद्यालयों में तरह तरह की प्रतियोगिताओं का आयोजन होगा। चौरीचौरा पर विशिष्ट शोध को बढ़ावा देने का कार्यक्रम भी शुरू हुआ है।