CDS बिपिन रावत और उनकी पत्नी का पार्थिव शरीर आज लाया जाएगा दिल्ली, कल होगा अंतिम संस्कार

    341
    CDS Bipin Rawat
    CDS Bipin Rawat

    कल दोपहर तमिलनाडु के कन्नूर में हुए हेलिकॉप्टर हादसे में देश के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ यानी CDS जनरल बिपिन रावत और उनकी पत्नी मधुलिका रावत का निधन हो गया. आज बिपिन रावत और उनकी पत्नी के पार्थिव शरीर को मिलिट्री विमान से दिल्ली लाया जाएगा. मिली जानकारी के अनुसार कल यानी शुक्रवार को जनरल रावत के अंतिम दर्शन के लिए उनका शव उनके आवास पर रखा जाएगा. लोग सुबह 11 से 2 बजे तक रावत को अंतिम सलामी दे पाएंगे.

    कल दो बजे के बाद रावत के अंतिम संस्कार की प्रक्रिया शुरू होगी. उनके आखिरी सफर को कामराज मार्ग से शुरू कर दिल्ली कैंटोनमेंट के ब्रार स्क्वायर श्मशान घाट तक ले जाया जाएगा. वहीं मिली जानकारी के अनुसार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी इस श्रद्धांजलि सभा में शामिल होंगे.

    उत्तराखंड में तीन दिवसीय राजकीय शोक की घोषणा

    बिपिन रावत के निधन के कारण उनके गृह राज्य उत्तराखंड में तीन दिवसीय राजकीय शोक की घोषणा की गई है. वहीं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत तमाम विपक्षी नेताओं ने भी जनरल बिपिन रावत और अन्य के निधन पर शोक जताया है.

    दरअसल कल यानी बुधवार को सीडीएस, जनरल बिपिन रावत अपनी पत्नी मधुलिका रावत और अन्य 11 लोगों के साथ नीलगिरि हिल्स के वेलिंगटन स्थित डिफेंस सर्विसेज स्टाफ कॉलेज के स्टाफ कोर्स के संकाय और छात्र अधिकारियों को संबोधित करने के लिए जा रहे थे. इसी दौरान तमिलनाडु के कुन्नूर के पास एक सैन्य हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त हो जाने से मौत हो गई.

    हेलिकॉप्टर में कौन-कौन सवार थे ?

    हादसे के वक्त वायुसेना के एमआई-17 वी-5 हेलिकॉप्टर में कुल 14 लोग सवार थे. इनमें CDS जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी मधुलिका रावत, ब्रिगेडियर एलएस लिद्दर, लेफ्टिनेंट कर्नल हरजिंदर सिंह, एनके गुरसेवक सिंह, विंग कमांडर पीएस चौहान, एनके जितेंद्र कुमार, जेडब्ल्यूओ प्रदीप ए, जेडब्ल्यूओ दास, स्क्वॉड्रन लीडर के सिंह, एल/नायक विवेक कुमार, एल/नायक बी साई तेजा, ग्रुप कैप्टन वरुन सिंह और हवलदार सतपाल शामिल थे. हादसे में केवल ग्रुप कैप्टन वरुन सिंह ही जीवित बचे हैं. उनका इलाज किया जा रहा है.