कोरोना के खिलाफ जंग में उतरी सेना, CDS रावत बोले- यह वक्त स्थानीय प्रशासन की मदद करने का

386

देश में कोरोना महामारी से निपटने के कामों में सेना भी हाथ बंटा रही है। मंगलवार को सीडीएस जनरल बिपिन रावत ने सशस्त्र बलों से आह्वान किया कि यह वक्त कोविड से बचाव के समयबद्ध कामों में नागरिक प्रशासन की मदद करने का है। अभी समय पर मदद मिलना महत्वपूर्ण है। सशस्त्र बलों के जवान कोविड से बचाव के कामों में जुट जाएं।

देश में कोरोना वायरस संक्रमण की दूसरी लहर से उत्पन्न स्थिति के मद्देनजर सीडीएस जनरल रावत ने मंगलवार को सशस्त्र बलों का आह्वान किया कि वे उठ खड़े हों और महामारी से निपटने तथा समयबद्ध तरीके से बीमारी की रोकथाम से संबंधित सुविधाएं उत्पन्न करने में प्रशासन की मदद करें। जनरल रावत ने अपने संदेश में कहा कि इस परिस्थिति में समय पर मदद महत्वपूर्ण है। सशस्त्र बलों के लिए यह उठ खड़े होने तथा समयबद्ध तरीके से कोविड रोकथाम संबंधी सुविधाएं उत्पन्न करने में मदद करने का समय है।

सीडीएस ने कहा कि वर्दीधारी हमारे स्त्री-पुरुषों में हर जगह हर समय बाधाओं को तोड़ने और आगे बढ़ने के लिए इच्छाशक्ति तथा समर्पण भाव है। जनरल रावत का यह संदेश ऐसे समय आया है जब एक दिन पहले उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को महामारी की दूसरी लहर से निपटने के लिए सशस्त्र बलों द्वारा उठाए जा रहे विभिन्न कदमों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि हम कर सकते हैं और हम करेंगे, आगे बढ़ें, अभी हमें लंबी यात्रा तय करनी है। सेना के तीनों अंग और रक्षा मंत्रालय की विभिन्न शाखाएं महामारी से निपटने के लिए कई कदम उठा रही हैं।

भारतीय वायुसेना खाली ऑक्सीजन टैंकरों और कंटेनरों को फिलिंग स्टेशनों तक पहुंचाने तथा कोविड अस्पतालों के लिए आवश्यक दवाएं और उपकरण पहुंचाने के काम में लगी है।