कलाकारों के चयन से लेकर फिल्मो में रोल तक कुछ ऐसी है लखनऊ के कास्टिंग डायरेक्टर पंकज चौहान की कहानी

2245

बॉलिवुड इंडस्‍ट्री में ज्‍यादातर लोग ऐक्‍टर या ऐक्‍ट्रेस बनने की ख्‍वाहिश के लिए पहुंचते हैं। हालांकि, इंडस्‍ट्री में तमाम ऐसे भी लोग भी हैं जो ऐक्‍टिंग नहीं बल्कि दूसरे क्षेत्र में लगातार अच्‍छा काम कर रहे हैं, जैसे कि फिल्मों के बनने से पहले उसके कलाकारों का चयन करना भी एक अहम कार्य होता है। सही कलाकार चुनना बेहद जरूरी होता है क्योंकि वही है जो आगे जाकर फिल्म का चेहरा बनता है। अब इस लिस्‍ट में उत्‍तर प्रदेश के लखनऊ के रहने वाले पंकज चौहान का नाम भी जुड़ गया है जिन्‍होंने तमाम बड़ी फिल्मों में कास्टिंग की, BHN News से खास बातचीत में उन्‍होंने बॉलिवुड में करियर और अपने अनुभवों को साझा किया।

आपके करियर की शुरुआत कैसे हुई ?

सन 2009 में मैं मुंबई शहर पहली बार आया, मेरी 16 साल उम्र थी, 11वीं कक्षा में पढ़ता था, सपना था फिल्म इंडस्ट्री में कुछ करना कई धारावाहिकों में बतौर एक्टर काम किया जिसमें से सबसे मशहूर धारावाहिक तारक मेहता का उल्टा चश्मा मैं काफी एपिसोड में काम किया धीरे-धीरे कदम मैंने फिल्म निर्माता एवं कास्टिंग डायरेक्टर के रूप में काम करने का निर्णय लिया।

फिल्म इंडस्ट्री में आने की प्रेरणा कहा से मिली ?

सन 2006 में दूरदर्शन के एक डॉक्यूमेंट्री प्रोजेक्ट में एक गरीब किसान बच्चे का 5 मिनट का रोल मिला, हिंदी समाचार के विज्ञापन से मुझे वह कार्य मिला था, मुझे यह भट आकर्षित लगने लगा और मैं आगे बढ़ता गया मैंने सोचा कुछ ऐसा करना चाहिए जिससे मैं अपने साथ-साथ समाज के लिए भी कुछ कर सकूं और अपनी पहचान बना सकूं।

कौन-कौन से प्रोजेक्ट में आपने काम किया और अभी कर रहे है?

सन 2018 में काफी बड़ी लागत से बनी फिल्म ‘फैमिली ऑफ ठाकुरगंज’ में लखनऊ की जिम्मेदारी संभाली तकरीबन 400 कलाकारों का चयन किया। ‘पति पत्नी और वो’ फिल्म में मुंबई की एक बड़ी कास्टिंग एजेंसी के साथ मिलकर लखनऊ में काम किया अच्छे कलाकार दिए

इवनिंग वीआईपी हॉटस्टार जार पिक्चर के बैनर तले बनी वेब सीरीज 84 में लखनऊ की कास्टिंग की कमान संभाली, 160 कलाकारों का चयन किया सफलतापूर्वक बड़ी प्रशंसा हुई। जी स्टूडियो के बैनर तले बनी ’14 फेरे’ जिनकी मुख्य भूमिका निभाने वाले- विक्रांत मेस्सी, कृति खरबंदा और गौहर खान थे, उसमें उत्तर प्रदेश  के लगभग 100 कलाकारों को काम करने का अवसर प्राप्त कराया, बड़ा अच्छा अनुभव रहा। 2021 में तकरीबन 6 जी प्रोजेक्ट लखनऊ आ रहे हैं, जिसमें से चार वेब सीरीज 2 मेगा बजट फिल्में आ रही है। 
आने वाले समय में उत्तर प्रदेश के कलाकारों के लिए बॉलीवुड केसा रहेगा और केसा स्थान मिलेगा ?

जाहिर सी बात है उत्तर प्रदेश में अगर फिल्म सिटी बन रही है तो इससे उत्तर भारत का बड़ा विकास होगा आने वाले समय में उत्तर प्रदेश छोड़कर महाराष्ट्र की ओर लोगों का जाना कम होगा अपने ही राज्य में कार्य करने का अवसर मिलेगा, इससे उत्तर प्रदेश का सफलतापूर्वक विकास होगा।

उत्तर प्रदेश के कलाकारों को आपकी तरफ से सलाह, जिससे उनका चयन बॉलीवुड की आने वाली फिल्मो में आसानी से हो सके।

उत्तर प्रदेश में बहुत अच्छे अच्छे कलाकार हैं, लेकिन कलाकारों को कास्टिंग डायरेक्टर का सम्मान करना चाहिए, मुंबई वाला प्रोफेशनलिज्म लाना बहुत जरूरी है, ग्रुपिज्म का हिस्सा ना बने, एक कलाकार दूसरे कलाकार को सम्मान दें, चाहे वह जूनियर हो या सीनियर हो, महाराष्ट्र या किसी भी राज्य से आए निर्माता-निर्देशक का सम्मान करें, प्रदेश सफलता की ओर अग्रसर है सभी मिलजुल कर कार्य करें।