यूपी में तीसरे चरण के लिए चुनाव प्रचार ख़त्म, 9 जिलों की 59 सीटों पर जनता तय करेगी प्रत्याशियों की किस्मत

223
election
election

उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव के चौथे चरण का चुनाव प्रचार अभियान समाप्त हो गया. वहीं, चौथे चरण में प्रदेश के 9 जिलों के 59 विधानसभा क्षेत्रों में 23 फरवरी को मतदान होगा . ऐसे में चौथे चरण में कुल 624 उम्मीदवार चुनावी मैदान में अपनी किस्मत आजमा रही हैं. हालांकि, इस चरण में बुधवार 23 फरवरी को जिन 9 जिलों में मतदान होना है, उनमें – पीलीभीत, लखीमपुर खीरी, सीतापुर, हरदोई, उन्नाव, लखनऊ, रायबरेली, बांदा और फतेहपुर आदि शामिल हैं . वहीं, प्रदेश में पिछले साल 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में इस 59 सीटों में से 51 पर बीजेपी जीती थीं, उसके बाद सपा को 4 जबकि बसपा को 3 सीटों पर ही महज जीत मिली थी.

दरअसल, इस चौथे चरण के प्रचार के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को हरदोई और उन्नाव में विपक्षी पार्ची समाजवादी पार्टी पर जमकर तीखा हमला किया. इस दौरान मोदी ने रविवार को यूपी विधानसभा चुनाव में मुख्य विपक्षी समाजवादी पार्टी (सपा) को घोर परिवारवादी और आतंकवादियों का समर्थक करार देते हुए कहा कि हमें ऐसे राजनीतिक दलों से सतर्क रहना है जो अपनी कुर्सी के लिए देश को दांव पर लगा देते हैं और देश की सुरक्षा से भी खिलवाड़ करते हैं.इस दौरान पीएम ने आरोप लगाया था कि जितने भी धमाके हुए सब समाजवादी पार्टी के चुनाव निशान साइकिल पर रखकर किए गए और मैं हैरान हूं कि उन्होंने (आतंकियों) साइकिल को क्‍यों पसंद किया, 2006 में काशी में बम धमाका हुआ था, संकट मोचन मंदिर में धमाका किया गया, कैंट रेलवे स्टेशन पर हमला किया गया और तब उप्र में सपा की सरकार थी.

बता दें कि चुनाव प्रचार के अंतिम दिन कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बीजेपी पर अपने संसदीय निर्वाचन क्षेत्र रायबरेली के साथ ‘सौतेला व्यवहार’ करने का आरोप लगाते हुए लोगों से यूपी विधानसभा चुनाव में अपनी पार्टी को बहुमालवोट देने की अपील की. इसके अलावा सोनिया ने पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ पर कोरोना महामारी के दौरान खराब प्रबंधन करने का आरोप भी लगाया. सोनिया ने विधानसभा चुनाव के चौथे चरण के प्रचार के अंतिम दिन अपने वर्चुअल संबोधन में कहा “यह बहुत महत्वपूर्ण चुनाव होने जा रहा है. चूंकि बीते 5 सालों के दौरान हमने एक ऐसी सरकार देखी है जिसने लोगों को बांटने के अलावा कोई काम नहीं किया.

वहीं, कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने यूपी विधानसभा चुनाव में आतंकवाद के मुद्दे को लेकर सपा पर हमलावर हो चुकी बीजेपी पर निशाना साधते हुए सोमवार को कहा कि महंगाई और बढ़ती बेरोजगारी के बजाए पाकिस्तान और आतंकवाद की बात करने से किसी का पेट नहीं भरेगा. प्रियंका ने लखनऊ के सरोजिनी नगर में आयोजित एक चुनावी सभा में कहा कि बीजेपी कोविड-19 महामारी के कारण कारोबारियों को हुए नुकसान की भरपाई और युवाओं की बेरोजगारी खत्म करने पर चर्चा के बजाए पाकिस्तान और आतंकवाद की बात कर रही है.