सोनू सूद ने एक बार फिर दिखाई दरियादिली, झांसी के ‘लकी’ के दिल का ऑपरेशन कराएंगे अभिनेता

561

प्रवासी मजदूरों की मदद से हर दिल अजीज बने बॉलीवुड स्टार सोनू सूद की दरियादिली फिर सोशल मीडिया में चर्चा है। अबकी बार उन्होंने झांसी के मजदूर के बेटे के दिल का ऑपरेशन कराने का जिम्मा उठाया है। देशभर के कई अस्पतालों में 9 साल के बेटे को दिखा चुके मजदूर धर्मेंद्र महंगा इलाज होने के चलते मान चुके थे उनका जिगर का टुकड़ा अब ठीक नहीं होगा। पर अचानक मुंबई से आए एक फोन ने उनका भाग्य बदल दिया। उदासी मुस्कुराहट में बदल गई।

मंगलवार को परिवार मुंबई रवाना हो गया। दरअसल, झांसी के शिवाजी नगर का रहने वाला मजदूर धर्मेंद्र वशंकार के 9 साल के बेटे लकी का दिल दाईं ओर है। जन्म के बाद से धर्मेंद्र ने बेटे को एम्स समेत देशभर के कई बड़े अस्पतालों में दिखा चुके हैं। डॉक्टरों ने दिल में छेद होने की पुष्टि की। महंगा इलाज मजदूर परिवार के बस में नहीं था। पिछले दिनों सामाजिक संस्था ने लकी की पीड़ा अभिनेता को ट्वीट की। इसके बाद सोनू सूद बच्चे के इलाज के लिए आगे आए।

धर्मेंद्र के तीन बच्चे हैं, जिसमें दो बेटे व एक बेटी है। बीच का लकी 9 साल का है। लकी के दिल में पैदायशी दिक्कत है। वह बेटे के इलाज के लिए कई शहरों के अस्पताल गए। सभी जगह लाखों रुपये का लंबा चौड़ा खर्च बताया गया। धर्मेंद्र हार मान बैठा। इस बीच सामाजिक संस्था नया उजाला का धर्मेंद्र को सहारा मिला। संस्था ने सोनू सूद को पीड़ा ट्क्टिर पर शेयर की। सोनू ने शुक्रवार को फोन कर धर्मेंद्र से लकी के इलाज संबंधी सभी दस्तावेज मांगे। फिर मंगलवार को फोन कर मुंबई बुला लिया। ऑपरेशन से लेकर आने-जाने का खर्च, ठहरने व खाने-पीने तक का इंतजाम भी उन्होंने स्वयं कराने का भरोसा दिलाया। धर्मेन्द्र मुस्कुराते हुए लकी को लेकर मुंबई रवाना हो गए हैं। इस पहल पर फफकते हुए उनके मुंह से बस एक ही बात निकली जिसका कोई नहीं होता उसका भगवान ही सहारा होता है।