टूलकिट मामलें में FIR दर्ज होने के बाद थाने के बाहर धरने पर बैठे रमन सिंह, बोले- कांग्रेस देश के खिलाफ साजिश रचना करे बंद

805

टूलकिट मामले में हर रोज नए अपडेट सामने आ रहे हैं। छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह के खिलाफ रायपुर पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है। आज इस मामले में पुलिस उनके आवास पर पूछताछ करेगी। इससे पहले रमन सिंह ने इसका विरोध किया है। रमन सिंह समेत कुछ नेता रायपुर के सिविल लाइंस थाने के बाहर धरना दे रहे हैं। नबता दें कि कांग्रेस ने टूलकिट मामले को लेकर रमन सिंह और भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ शिकायत दर्ज की थी। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा बेवजह टूलकिट मामले में कांग्रेस को घसीट रही है। 

सिविल लाइंस थाने के बाहर पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, भाजपा नेता बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत समेत कई वरिष्ठ नेता धरने पर बैठे हुए हैं। धरना स्थल पर बड़े-बड़े होर्डिंग्स भी लगाए गए हैं, जिसपर लिखा है कि टूलकिट बनाकर देश के खिलाफ साजिश रचने वाली और भाजपा नेताओं पर झूठे मुकदमे करने वाली, लोकतंत्र और अभिव्यक्ति की हत्या करने वाली कांग्रेस सरकार के खिलाफ यह धरना है। 

एनएसयूआई का आरोप है कि पूर्व मुख्यमंत्री रमन सिंह, संबित पात्रा और अन्य लोगों ने कांग्रेस पार्टी के लेटरहेड का इस्तेमाल कर एक फर्जी टूलकिट वितरित की है। इस मामले में पुलिस सोमवार को रमन सिंह से अपने आवास पर मौजूद रहने के लिए कहा था, लेकिन उससे पहले ही रमन सिंह थाने के बाहर धरना पर बैठ गए हैं। 

पात्रा पुलिस के सामने नहीं हुए पेश
पिछले दिनों रायपुर के सिविल लाइन थाने में छत्तीसगढ़ एनएसयूआई प्रदेश अध्यक्ष आकाश शर्मा ने शिकायत दर्ज कराई थी। कथित फर्जी टूलकिट मामले में संबित पात्रा को रविवार को पुलिस ने नोटिस जारी कर पेश होने को कहा था, लेकिन पात्रा निजी कारणों का हवाला देकर पुलिस के सामने पेश नहीं हुए। पात्रा ने इस मामले को लेकर कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था।  भाजपा नेता संबित पात्रा ने ट्विटर पर भी टूलकिट को लेकर कई ट्वीट्स किए थे।

भाजपा का कांग्रेस पर आरोप
गौरतलब है कि भाजपा ने कांग्रेस पर कोरोना संकट के वक्त एक ‘टूलकिट’ के जरिए प्रधानमंत्री मोदी की छवि बदनाम करने का आरोप लगाया है। भाजपा का कहना है कि कांग्रेस कोरोना महामारी के दौरान पीएम की छवि धूमिल करना चाहती है। वहीं कांग्रेस ने ऐसी किसी भी टूलकिट से इनकार किया है। कांग्रेस का आरोप है कि भाजपा इस तरह के मामले को उठाकर कोरोना के दौरान सरकार द्वारी की जा रही लापरवाही को छुपाना चाहती है। कांग्रेस रिसर्च विंग के प्रमुख राजीव गौड़ा ने कहा कि AICC रिसर्च डिपार्टमेंट का बताकर BJP फर्जी टूलकिट प्रचारित कर रही है।