भाजपा का राहुल गांधी पर निशाना कहा – अमेठी में खारिज होने के बाद केरल में ली ‘शरण’

275

केरल में भाजपा ने मंगलवार को कांग्रेस नेता राहुल गांधी पर हमला करते हुए उन्हें ‘प्रवासी नेता’ बताया। पार्टी ने कहा कि उन्होंने अमेठी के लोगों द्वारा अस्वीकार किए जाने के बाद केरल में ‘शरण’ ली है। सबरीमाला मंदिर में महिलाओं के प्रवेश के मुद्दे पर वायनाड से सांसद राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए भाजपा के वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि कांग्रेस के राष्ट्रीय नेतृत्व और राज्य नेतृत्व का इस मामले पर अलग-अलग रुख है। इससे पता चलता है कि हिंदू भावनाओं के प्रति उनकी कोई प्रतिबद्धता नहीं है। उन्होंने राहुल गांधी से आस्था के मुद्दे पर अपनी स्थिति साफ करने को कहा।

प्रल्हाद जोशी राज्य में भाजपा के चुनाव प्रभारी हैं। 21 फरवरी को कासरगोड से भाजपा की ‘विजय यात्रा’ की तैयारियों को बारे में जानकारी देते हुए एक संवाददाता सम्मेलन में जोशी ने दावा किया कि राहुल गांधी एक प्रवासी नेता हैं। उन्होंने तीन बार निर्वाचित होने के बावजूद उत्तर प्रदेश स्थित अमेठी के विकास के लिए कुछ नहीं किया।उन्होंने कहा कि वहां के लोगों द्वारा खारिज किए जाने के बाद, राहुल ने अब केरल में ‘आश्रय’ लिया है। उन्होंने दावा किया है कि राज्य के लोग भी इस बात को जल्द समझ जाएंगे कि कांग्रेस पार्टी का समर्थन करने से उन्हें कुछ हासिल नहीं होने वाला है।

जोशी ने कांग्रेस और सत्तारूढ़ माकपा की नेतृत्व वाली सरकार पर राज्य में ‘कट्टरपंथियों के तुष्टिकरण’ का आरोप लगाया। उन्होंने तुर्की में एक हागिया सोफिया चर्च के मस्जिद में परिवर्तन के मुद्दे को उठाया। इस संदर्भ में उन्होंने कांग्रेस की सहयोगी पार्टी मुस्लिम लीग के एक नेता के बयान का हवाला दिया, जिसने कथित तौर पर तुर्की के राष्ट्रपति एर्दोगन के विवादास्पद फैसले को सही बताया है। भाजपा नेता ने केरल में सत्तारूढ़ माकपा और पिछली कांग्रेस नीत यूडीएफ सरकार पर भी हमला करते हुए आरोप लगाया कि दोनों सरकारें लोगों की समस्याओं को हल करने में विफल रही हैं।