राष्ट्रपति बाइडन ने की अफगान राष्ट्रपति गनी से फोन पर बात, कहा- अमेरिका करता रहेगा मदद

368

अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने अपने अफगान समकक्ष अशरफ गनी से फोन पर बात की और उनको यह भरोसा दिया है कि अमेरिका उनके देश की कूटनीतिक और मानवीय आधार पर मदद करता रहेगा। यह आश्वासन ऐसे समय दिया गया, जब अफगानिस्तान में तालिबान अपना दायरा ब़़ढाता जा रहा है। इससे अमेरिका समर्थित अफगान सरकार दबाव में आ गई है। व्हाइट हाउस के बयान के अनुसार, बाइडन और अफगानिस्तान के राष्ट्रपति गनी के बीच शुक्रवार को फोन पर बात हुई। दोनों नेता इस बात पर सहमत हुए कि तालिबान का मौजूदा हमला बातचीत का समर्थन करने के उलट है।

हिंसा बंद करे तालिबान

समाचार एजेंसी एएनआइ के अनुसार, अमेरिका, यूरोपीय यूनियन और नाटो नार्थ अटलांटिक ट्रीटी आर्गनाइजेशन)] ने तालिबान से अफगानिस्तान में हिंसा बंद करने और शांति वार्ता में शामिल होने की अपील की है। अमेरिका, यूरोपीय यूनियन, नाटो, फ्रांस, जर्मनी, नार्वे और ब्रिटेन के विशेषष राजदूतों की रोम में गुरवार को हुई बैठक में अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा हुई।

ताजिकिस्तान–अफगान सीमा पर रूस ने तैनात किए सैनिक

रूस ने ताजिकिस्तान और अफगानिस्तान की सीमा पर सेना की तैनाती कर दी है। यहां छह हजार से ज्यादा रूसी सैनिक भेजे गए हैं। यह कदम अफगानिस्तान में तालिबान के ब़़ढते हमले से उपजे खतरे के मद्देनजर उठाया गया है। इधर, प्रेट्र के मुताबिक, पाकिस्तान ने अफगान सीमा पर नियमित सैनिकों की तैनाती कर दी है।