बीजेपी नेता दिलीप घोष ने ममता को घेरा कहा – बंगाल को अपनी संपत्ति समझती हैं

371

पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनावों से पहले बयानबाजी का दौर जारी है. भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष दिलीप घोष ने एक बार फिर बंगाल सरकार पर निशाना साधा है. साथ ही बीजेपी नेता ने अमर्त्य सेन को भी निशाने पर लिया.

अमर्त्य सेन द्वारा लव जिहाद कानून पर की गई टिप्पणी को लेकर दिलीप घोष ने पलटवार किया. बीजेपी नेता ने कहा कि मैं उनकी निजी जिंदगी पर कमेंट नहीं करना चाहता, उन्होंने तीन शादी की और अलग-अलग धर्मों में की. ऐसे में वो इसपर टिप्पणी ना करें.

बीजेपी नेता ने कहा कि जब बंगाल में कई संकट आए, तो वो देश छोड़कर भाग गए थे. बुद्धिजीवी अमर्त्य सेन से जुड़े जमीन विवाद पर भी दिलीप घोष ने निशाना साधा. उन्होंने कहा कि दोनों पक्ष एक दूसरे की मदद करने में जुटे हैं.

दिलीप घोष ने IPS ट्रांसफर के मसले पर कहा कि ये राज्य और केंद्र के बीच का मसला है. अगर किसी अधिकारी को केंद्र ने बुलाया है, तो उन्हें आज या कल में जाना ही होगा. अगर राज्य सरकार को लगता है कि वो उन्हें बचा लेंगे, तो गलत है.

विश्वाभारती के मसले पर दिलीप घोष ने ममता सरकार को घेरा, उन्होंने कहा कि ममता बनर्जी बंगाल को अपनी संपत्ति समझती हैं. यही कारण है कि वो अपनी मर्जी के अनुसार ज़मीन बांट रही हैं. विश्वाभारती यूनिवर्सिटी में भी वो माफिया राज नहीं रोक पा रही हैं. बीजेपी नेता ने कहा कि शैक्षणिक संस्थानों को राजनीति से अलग होकर देखना चाहिए.

आपको बता दें कि अमर्त्य सेन पर विश्वाभारती यूनिवर्सिटी की ज़मीन पर कब्जे का आरोप है, लेकिन इस विवाद के बीच ममता बनर्जी ने उनका समर्थन किया है. दूसरी ओर उन्होंने देश के माहौल पर टिप्पणी भी की थी, जिसमें उन्होंने कहा था कि देश में विचार रखने की आजादी कम हुई है.