20 साल के बाद Lionel Messi और बार्सिलोना का छूटा साथ – क्लब के अध्यभ जुआन लापोर्ता का आया बड़ा बयान

292

फुटबॉल जगत की सबसे बड़ी हलचल स्पेन में मची हुई है, जहां यूरोप के शीर्ष फुटबॉल क्लब बार्सिलोना और उसके सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी लियोन मेसी की राहें आखिरकार जुदा हो गईं। लंबे समय से दोनों के दूर होने की खबरें सामने आ रही थीं, लेकिन बीच में ऐसा भी सामने आया था कि आधे वेतन में भी वे बार्सिलोना के साथ जुड़ सकते हैं, लेकिन सच्चाई कुछ और निकली।

फुटबॉल इतिहास के महानतम खिलाड़ियों में से एक मेसी और बार्सिलोना का करीब 21 वर्षों का सफर खत्म हो गया। दिग्गज अर्जेंटीनी खिलाड़ी का स्पेनिश क्लब के साथ करार इस साल जून में खत्म हो गया था, जिसके बाद से ही उनके भविष्य को लेकर अटकलें लगाई जा रही थीं। माना जा रहा था कि क्लब और मेसी के बीच में बदली हुई शर्तों के साथ नए करार को लेकर समझौता हो जाएगा, लेकिन बार्सिलोना की ओर से गुरुवार को पुष्टि की गई कि मेसी का क्लब के साथ करार नहीं हो पाया।

क्लब के अनुसार, दोनों के बीच वित्तीय बाधाओं (स्पेनिश ला लीगा नियमों) के कारण ऐसा नहीं हो सका। इसके कारण मेसी बार्सिलोना क्लब के साथ नहीं जुड़ पाएंगे और हम दोनों को ही इसका दुख है और क्लब उनके बिना पूरा नहीं होगा। क्लब की उन्नति में योगदान देने के लिए उनका आभार व्यक्त करते हैं और भविष्य के लिए उन्हें शुभकामनाएं देते हैं।

जून के अंत में करार समाप्त होने के बाद मेसी अन्य क्लबों के साथ करार करने के लिए स्वतंत्र थे, लेकिन बाíसलोना ने हमेशा कहा था कि वह क्लब के साथ रहना चाहते हैं। मेसी 13 साल की उम्र में क्लब की युवा टीम में शामिल हुए थे। उन्होंने अपना पूरा क्लब करियर बार्सिलोना के साथ बिताया है। वह क्लब के शीर्ष स्कोरर हैं। उन्होंने सभी प्रतियोगिताओं में 778 मैचों में 672 गोल किए हैं।

438 करोड़ रुपये के लगभग (550 मिलियन यूरो) का करार था मेसी का बार्सिलोना के साथ पिछले पांच वर्षो के लिए। यह करार इस साल 30 जून को समाप्त हो गया।
बार्सिलोना क्लब के अध्यक्ष जुआन लापोर्ता का मानना है कि मेसी के करार की रकम (बिना वेतन) कल्ब की आय के 95 प्रतिशत के करीब थी। जिससे कल्ब को भविष्य में आíथक संकट का भी सामना करना पड़ सकता था इसलिए हमारे पास उन्हें छोड़ने के अलावा कोई विकल्प नहीं था।

लापोर्ता ने कहा, ‘खिलाड़ी भले ही दुनिया में सबसे बड़ा क्यों ना हो, लेकिन क्लब का भविष्य हमारे लिए सबसे ऊपर है। हम उनसे करार चाहते थे, लेकिन उनकी रकम क्लब की कुल आय का 95 प्रतिशत के करीब थी। जिससे कल्ब को भविष्य में भारी आर्थिक संकट का सामना करना पड़ सकता था। इसलिए यह संभव नहीं हो पाया।’

क्लब ने मेसी के साथ दो नए करार की योजना बनाई थी

लापोर्ता ने अंत में कहा कि क्लब ने मेसी के साथ दो नए करार की योजना बनाई थी, जिसमें पहले दो साल का करार जिसका भुगतान अगले पांच साल तक किया जा सकता था। दूसरा उनसे पांच साल का करार करने की योजना थी। लेकिन ला लीगा के फाइनेंशियल फेयर प्ले (एफएफपी) के कारण कोई भी सौदा संभव नहीं हो सका