बांग्लादेश में दुर्गा पूजा के दौरान मंदिरों पर प्लानिंग से हमले – 4 घंटे तक चला उपद्रव, तीन लोगों की मौत

500

बांग्लादेश में महानवमी के मौके पर दुर्गा पूजा पंडालों में तोड़फोड़ और फिर 4 लोगों की हत्या कोई अचानक हुई घटना नहीं थी बल्कि उसे पूरी प्लानिंग से अंजाम दिया गया था। गुरुवार को हुए हमले के प्रत्यक्षदर्शी लोगों ने यह दावा किया है। यही नहीं बांग्लादेश की न्यूज वेबसाइट bdnews24.com की रिपोर्ट अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय के लोगों की ओर से मदद की गुहार लगाए जाने के बाद भी पुलिस टाइम से नहीं पहुंची। यह हमला राजधानी ढाका से करीब 100 किलोमीटर दूर स्थित कमिला नाम के शहर में चंडमोनी काली मंदिर में चल रहे दुर्गा पूजा आयोजन पर किया गया।

यही नहीं कट्टरपंथियों की भीड़ ने सुबह 11 बजे से लेकर दोपहर 3 बजे तक कई बार मंदिर परिसर में चल रहे आयोजन पर हमला किया, लेकिन पुलिस से कोई मदद नहीं मिली। इलाके के दो और मंदिरों से जुड़े लोगों ने भी यही शिकायत की है। हिंदू समुदाय के नेता गोविंद चंद्र प्रमाणिक ने कहा कि इलाके के सभी मंदिरों ने पुलिस की ओर से देर से जवाब मिलने की बात कही है। बांग्लादेशी मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सोशल मीडिया पर कुछ वीडियोज वायरल हो रहे थे, जिसमें मंदिर में कुरान के अपमान होने का दावा किया गया था। इन फर्जी वीडियोज ने कट्टरपंथी भीड़ को उकसाने का काम किया।