दिव्यांगों के लिए UGC National Fellowship का एक और मौका, रजिस्ट्रेशन शुरू

192
UGC national fellowship
UGC national fellowship

विश्वविद्यालय अनुदान आयोग ने दिव्यांगों के लिए नेशनल फेलोशिप के लिए दोबारा आवेदन मंगवाए हैं. अधिकारिता विभाग (DEPwD), सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय की ओर से वर्ष 2021-22 के लिए राष्ट्रीय फेलोशिप के लिए एप्लिकेशन फिर से जारी किया है. जिन योग्य उम्मीदवारों ने अप्लाई नहीं किया है वे 31 मार्च कर अप्लाई कर सकते हैं. यूजीसी ने ऑनलाइन आवेदन प्राप्त करने के लिए पोर्टल ugc.ac.in/ugc_schemes को फिर से खोल दिया है. वेबसाइट पर जाकर आसानी से फेलोशिप के लिए अप्लाई कर सकते हैं.

यूजीसी ने एक आधिकारिक बयान में कहा, “इस योजना के तहत, विकलांग छात्रों को फेलोशिप दी जाती है, जो एमफिल, पीएचडी के पुरस्कार के लिए अनुसंधान करने के लिए ‘विकलांग व्यक्तियों के अधिकार अधिनियम, 2021’ के तहत आते हैं.” फेलोशिप में 200 स्लॉट हैं जिनमें 15% सीटें अनुसूचित जाति (SC) और 7.5% अनुसूचित जनजाति (ST) के उम्मीदवारों के लिए आरक्षित हैं. यूजीसी के नामित पोर्टल पर ऑनलाइन मोड के माध्यम से प्राप्त आवेदनों के आवेदनों के सत्यापन के बाद, उम्मीदवारों द्वारा उनके स्नातकोत्तर (PG) परीक्षा में प्राप्त अंकों के प्रतिशत के आधार पर चयन पूरी तरह से योग्यता के आधार पर किया जाएगा.

कैसे करें अप्लाई

1.सबसे पहले उम्मीदवार ugc.ac.in/ugc_schemes पर जाएं.

2.उसके बाद नीचे स्क्रॉल करें, और National Fellowship for Persons with Disabilities पर क्लिक करें

3.उस लिकं पर क्लिक करें, और रजिस्टर करें.

  1. आवेदन की प्रक्रिया पूरी करें.

चयन प्रक्रिया के बाद, यूजीसी अनंतिम रूप से चयनित उम्मीदवारों के नाम वाली एक लिस्ट जारी करेगा. उन्हें फेलोशिप में शामिल होने की अनुमति उनके ऑनलाइन आवेदन में तथ्यों या उनके द्वारा दी गई जानकारी के सत्यापन के बाद ही दी जाएगी. फेलोशिप में शामिल होने वाले उम्मीदवार एमफिल या पीएचडी करने के लिए केंद्र या राज्य सरकार या यूजीसी जैसे अन्य निकायों से किसी भी अन्य मौद्रिक लाभ के हकदार नहीं होंगे.