अमित शाह का नितीश कुमार के नाम पर मुहर, बनेंगे अगला सीएम, चिराग बोले- BJP गठबंधन निभाए, मैं PM मोदी के साथ

267

बिहार विधानसभा चुनाव के परिणाम आने के बाद राष्‍ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) का स्‍वरूप क्‍या होगा? क्‍या भारतीय जनता पार्टी (BJP) व जनता दल यूनाइटेड (JDU) की दोस्‍ती टूट जाएगी? क्‍या नीतीश कुमार (Niish Kumar) को हटा कर सत्‍ता का कोई नया समीकरण बनेगा? लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) के अध्‍यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) के बीजेपी को समर्थन देने तथा नीतीश कुमार के खिलाफ मोर्चा खोलने के बाद उत्‍पन्‍न ऐसे सियासी कयासों पर गृहमंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने विराम लगा दिया है। एक निजी न्‍यूज चैनल से बातचीत में उन्‍होंने कहा कि चिराग के बयानों से एनडीए में बात बिगड़ी। बिहार में नीतीश कुमार की ही सरकार बनेगी। अमित शाह के बयान के बाद चिराग पासवान ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा है कि बीजेपी अपना गठबंधन धर्म निभाए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) किसी संकोच में नहीं पड़ें। मौजूदा मुख्‍यमंत्री नीतीश कुमार को संतुष्‍ट करने के लिए जो कहना पड़े, नि:संकोच कहें।

अमित शाह बोले: बीजेपी व जेडीयू साथ, नीतीश ही बनेंगे अगले सीएम

विदित हो कि अमित शाह ने कहा कि विधानसभा चुनाव में चाहे जितनी सीटें मिलें, नीतीश कुमार ही अगले मुख्‍यमंत्री होंगे। वे पुराने सहयोगी हैं, उनसे गठबंधन तोड़ने का कोई कारण नहीं है। उन्‍होंने कहा कि केंद्र व राज्‍य में समान विचारधारा की सरकार होनी चाहिए। केंद्र में नरेंद्र मोदी की सरकार है। इसके साथ मिल कर बिहार में नीतीश कुमार की डबल इंजन की सरकार बिहार के विकास को आगे बढ़ाएगी। चिराग पासवान को लेकर अमित शाह ने कहा कि उनके बयानों से एनडीए में बात बिगड़ी। उन्‍हें समझाने की कोशिश नाकाम रही। एनडीए से एलजेपी के जाने का दुख जरूर है, लेकिन अब जीतराम मांझी एवं मुकेश साहनी के आने से सामाजिक समीकरण मजबूत हुए हैं।

चिराग बोले: बीजेपी गठबंधन धर्म निभाए, जो जरूरी हो नि:संकोच कहें

अमित शाह के बयान के बाद चिराग पासवान ने ट्वीट कर कहा है कि वे नहीं चाहते कि उनकी वजह से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी किसी धर्मसंकट में पड़ें। वे अपना गठबंधनधर्म निभाएं। मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को संतुष्ट करने के लिए अगर मेरे खिलाफ भी कुछ कहना पड़े तो निस्संकोच कहें। एक अन्‍य ट्वीट में चिराग पासवान ने कहा कि ‘बिहार फर्स्‍ट बिहारी फर्स्‍ट’ की सोच जेडीयू नेताओं की गले की फांस बन चुकी है। प्रधानमंत्रीजी के विकास के मंत्र के साथ वे ‘बिहार फर्स्‍ट बिहारी फर्स्‍ट’ के प्रति प्रतिबद्ध हैं। चिराग ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार को बीजेपी के साथियों का धन्यवाद करना चाहिए कि वे मुख्यमंत्री के ख़िलाफ इतना आक्रोश रहने के बावजूद गठबंधन धर्म निभा रहे हैं और हर दिन नीतीश कुमार को प्रमाणपत्र दे रहे हैं।

बांटो और राज करो की नीति में माहिर हैं मुख्यमंत्री नीतीश कुमार

चिराग ने यह भी कहा कि नीतीश कुमार ने प्रचार का पूरा जोर उनके और प्रधानमंत्री के बीच दूरी दिखने में लगा रखा है। बांटो और राज करो की नीति में माहिर मुख्यमंत्री हर दिन उनके और बीजेपी के बीच दूरी बनाने का प्रयास कर रहे हैं। चिराग ने कहा कि उनके और प्रधानमंत्री के रिश्ते कैसे हैं, इसे प्रदर्शन करने की जरूरत नहीं है। राम विलास पासवान का हवाला देते हुए कहा कि पापा जब अस्पताल में थे तब से लेकर उनकी अंतिम यात्रा तक उन्होंने जो कुछ किया उसे कभी नहीं भूल सकते।