लखनऊ में अमित शाह बोले – ‘अखिलेश यादव ने राम मंदिर के लिए 5 हज़ार रुपए भी नहीं दिए, यूपी के हाल से मेरा खून खौलता था’

219
home minister amit shah
home minister amit shah

गृह मंत्री अमित शाह आज लखनऊ (Amit Shah Lucknow Visit) दौरे पर हैं. इस दौरान एक कार्यक्रम के दौरान अमित शाह ने अखिलेश यादव (Akhilesh Yadav) और मायावती (Mayawati) पर जमकर निशाना साधा. अमित शाह ने कहा कि सपा-बसपा के शासन के समय कानून व्यवस्था देख मेरा खून खौलता था, लेकिन अब स्थिति बदल गई है. अब महिलाएं खूब गहने पहनकर रात के 12 बजे भी निकलती हैं. पहले हर जिले में दो तीन बाहुबली होते थे, लेकिन अब दूरबीन लेकर भी तलाशने पर बाहुबली नहीं मिलते हैं. बीजेपी सरकार की वजह से ये बदलाव आया है.

अमित शाह ने कहा कि कानून व्यवस्था इतनी ख़राब थी कि यूपी से जगह-जगह से पलायन होते थे. कैराना से पलायन होते थे, लेकिन अब पलायन कराने वालों का ही पलायन हो गया है. पहले मेरठ यूनिवर्सिटी की छात्राएं दिल्ली में किराये के कमरे लेकर पढ़ती थीं, लेकिन अब स्थिति पूरी तरह से बदल गई है.

अमित शाह ने कहा कि ये अखिलेश एंड कंपनी 2014, 2017, 2019 में हमें ताने देते थे। कहते थे- “मंदिर वहीं बनाएंगे, तिथि कभी नहीं बताएंगे.” अखिलेश बाबू, तिथि ही नहीं, अब तो मंदिर की नींव भी डाल दी है. आप तो 5 हजार रुपया देने से भी चूक गए.

अमित शाह ने कहा कि मैं गर्व से कह सकता हूं योगी आदित्यनाथ ने अपने 90 प्रतिशत वाडे पूरे कर दिए हैं. चुनाव से पहले मार्च तक सभी 100 प्रतिशत वादे पूरे कर दिए जाएंगे. लोगों को यकीन भी है कि बीजेपी जो कहती है वो करती है.

अमित शाह ने कहा कि जो पिछले पांच सालों से घर बैठे हुए थे, वो सोचते हैं कि वो सरकार बना लेंगे. मैं अखिलेश यादव से पूछना चाहता हूं कि वह कितने दिन यूपी में अपने घर से बाहर रहे. अखिलेश यादव कोरोना के समय कहां थे. बाढ़ के समय कहाँ थे. वो जो भी कर रहे थे सिर्फ अपने घर के लिए कर रहे थे.