अमेरिका ने छह पाकिस्तानी नागरिकों और चार कंपनियों को काली सूची में डाला, लगाई पाबंदिया

214

अमेरिका ने रूसी कंपनियों को फर्जी दस्तावेजों की मदद से प्रतिबंधों से बचाने के आरोप में छह पाकिस्तानी नागरिकों और उनकी चार कंपनियों पर पाबंदी लगा दी है। इस बीच, रूस ने भी देश की मुख्य सुरक्षा एजेंसी के डाटाबेस से कथित तौर पर गोपनीय सूचना हासिल करने के लिए यूक्रेन के एक राजनयिक को हिरासत में लिया है। 

बता दें कि अमेरिका ने 2020 के राष्ट्रपति चुनाव को प्रभावित करने की कोशिश के बाद मॉस्को पर प्रतिबंध लगाए थे। इसके बाद रूस ने भी अमेरिका के 10 राजनयिकों पर प्रतिबंध लगा दिए।

इस कड़ी में पाक पर कार्रवाई करते हुए अमेरिकी राजकोष मंत्रालय ने कहा कि ‘सेकंड आई सॉल्यूशन’ (एसईएस) जिसे ‘फॉरवार्डेज’ के नाम से भी जाना जाता है, को तीन अन्य कंपनियों- फ्रेस एयर फार्म हाउस, लाइक वाइस और एमके के साथ प्रतिबंधित किया जाता है।

इस कार्रवाई से अमेरिका में पाकिस्तान की छवि को धक्का पहुंचा है। दूसरी तरफ, फेडरल सिक्योरिटी सर्विस (एफएसबी) ने शनिवार को बताया कि सेंट पीटर्सबर्ग में यूक्रेन के महावाणिज्यदूत को एक रूसी नागरिक से मुलाकात के दौरान गिरफ्तार किया गया। आरोप है कि मुलाकात में उन्होंने एफएसबी के डाटाबेस से गोपनीय प्रकृति की सूचनाएं हासिल कीं।