नोटबंदी पर अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर साधा निशाना, कहा – ”शासन मनमानी से नहीं, समझदारी और ईमानदारी से चलता हैं ”

110

2000 की नोट को लेकर भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने बड़ा फैसला लेते हुए नॉट को सर्कुलेशन से वापस लेने की घोषणा कर दी हैं। जिसके बाद अब सभी विपक्षी पार्टियों ने सरकार को अपने निशाने पर ले लिया है। किसी ने 2000 की नोट को सरकार की गलती बताया तो किसी ने इस नॉट को बंद करने पर सवाल खड़े कर दिए।

सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट करते हुए सरकार पर जमकर निशाना साधते हुए कहा की, कुछ लोगों को अपनी गलती देर से समझ में आती है। दो हजार के नोट के मामले में भी ऐसा ही हुआ है, लेकिन इसकी सजा देश की जनता और अर्थव्यवस्था ने भुगती है। उन्होंने आगे कहा की, शासन मनमानी से नहीं, समझदारी और ईमानदारी से चलता है।

मार्केट में क्यों नहीं दिख रहे हैं 2000 के नोट : खाबरी

वहीँ दूसरी ओर कांग्रेस ने भी 2000 की नॉट को लेकर सरकार को सवालों के घेरे में खड़ा कर दसिया है। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष बृज लाल खाबरी ने कहा कि दो हजार नोट के मामले में सरकार को यह निर्णय क्यों लेना पड़ा। इसकी वजह बताई जाए। सरकार यह भी बताए कि दो हजार के नोट कहां गए। यह मार्केट में क्यों नहीं दिख रहे हैं।