Ahmad Massoud Vs Taliban: पंजशीर पर हमला करने आए 350 लड़ाकों को अहमद की सेना ने किया ढेर, ट्वीट कर दी जानकारी

1434

काबुल पर कब्जा करने के बाद तालिबान ने अफगानिस्तान में सत्ता संभाल ली है. हालांकि अबतक तालिबान के लड़ाके पंजशीर प्रांत पर कब्जा नहीं कर सके हैं. तालिबान और नॉर्दन अलायंस के बीच लड़ाई अब तेज हो गई है. पंजशीर में दाखिल होने का प्रयास कर रहे तालिबान को बड़ा झटका लगा है. दरअसल पंजशीर में विद्रोही गुट के लड़ाकों ने सैकड़ों तालिबानी लड़ाकों को मार गिराया है. अहमद मसूद के नेतृत्व वाले नॉर्दन अलायंस ने ट्विटर पर दावा किया है कि उन्होंने तालिबान के 350 लड़ाकों को मार गिराया है.

गौरतलब है कि पंजशीर प्रांत के नेताओं के साथ तालिबान की बात विफल हो चुकी है. ऐसे में अहमद मसूद पंजशीर को आजाद चाहते हैं और तालिबान उसपर कब्जा करना चाहता है. ऐसे में यह युद्ध जारी है. बता दें कि पंजशीर एक मात्र एक प्रांत है जो अब भी तालिबान के नियंत्रण से मुक्त है. अपनी आजादी के लिए यहां की महिलाओं तक ने हथियार उठा लिया है.

नॉर्दन अलायंस ने अपने ट्वीटर में लिखा- बीती रात खावक इलाके में हमला करने आए तालिबान के 350 लड़ाकों को मार गिराया है. जबकि 40 से अधिक को पकड़ा है. इस दौरान NRF को कई अमेरिका वाहन, हथियार, गोला-बारूद मिला है. एक स्थानीय पत्राकर नातिक मालिकजादा द्वारा किए गए ट्वीट के मुताबिक अफगानिस्तान के पंजशीर के एंट्रेंस पर गुलबहार इलाके में तालिबान लड़ाकों और नॉर्दन अलायंस के लड़ाकों के बीच मुठभेड़ हुई है.

बता दें कि पंजशीर घाटी में अफगानिस्तान के कार्यवाहक राष्ट्रपति अमरुल्लाह सालेह भी मौजूद हैं. तालिबान के खिलाफ अहमद मसूद का यह जंग में साथ दे रहे हैं. उन्होंने कहा है कि मैं भी अहमद शाह मसूद का बेटा हूं और मेरी डिक्शनरी में सरेंडर जैसा कोई शब्द नहीं है. ऐसे में तालिबान के लिए पंजशीर घाटी पर कब्जा करना मुश्किलभरा होने वाला है.