अडाणी ग्रुप अब बॉर्डर चेकपोस्ट पर करेगी कब्ज़ा, MBCPNL में खरीदेगी 49 फीसदी हिस्सेदारी

376

अडाणी इंटरप्राइजेज लिमिटेड ने अपनी पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी अडाणी रोड ट्रांसपोर्ट लिमिटेड महाराष्ट्र बॉर्डर चेक पोस्ट नेटवर्क लिमिटेड (एम.बी.सी.पी.एन.एल) में 49 फीसदी हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी. साथ ही उसके पास नियामकीय मंजूरी के अधीन अतिरिक्त हिस्सेदारी के अधिग्रहण का विकल्प होगा. कंपनी ने एक बयान में कहा कि अधिग्रहण 1,680 करोड़ रुपए के एंटरप्राइज वैल्यू पर किया जाएगा. बता दें कि महाराष्ट्र बॉर्डर चेक पोस्ट नेटवर्क लिमिटेड (एम.बी.सी.पी.एन.एल) सद्भाव इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट लिमिटेड की सब्सिडियरी कंपनी है.

एंटरप्राइज वैल्यू कंपनी के कुल मूल्य का एक माप है जिसका अक्सर इक्विटी मार्केट कैप के अधिक व्यापक विकल्प के रूप में उपयोग किया जाता है. ईवी अपनी गणना में ना केवल कंपनी के मार्केट कैप को शामिल करता है, बल्कि कंपनी के बही खाते में दर्ज अल्पकालिक और दीर्घकालिक लोन के साथ-साथ हर तरह की नकदी को भी शामिल करता है.

कंपनी ने एक बयान में कहा कि ए.आर.टी.एल, जो भारत में सड़कों और राजमार्ग परियोजनाओं का विकास, निर्माण, संचालन और प्रबंधन करती है, पहले एम.बी.सी.पी.एन.एल में 49 फीसदी हिस्सेदारी हासिल करेगी, जिसमें अतिरिक्त हिस्सेदारी हासिल करने का विकल्प होगा. गेटवे महाराष्ट्र को 6 पड़ोसी राज्यों से जोड़ता है, भारत में वाणिज्यिक सड़क यातायात के 20 फीसदी से अधिक को कवर करेगा.

इसमें 24 एंटिग्रेटेड चेकपोस्ट हैं, जिनमें महाराष्ट्र के अंदर और बाहर सभी प्रमुख यातायात मार्गों के लिए कमर्शियल व्हीकल से एक्सक्लूसिव सर्विस फीस कलेक्शन के अधिकार हैं.

ए.आर.टी.एल के सीईओ कृष्ण प्रकाश माहेश्वरी ने कहा, भारत ने अपने सड़क नेटवर्क के निर्माण और राष्ट्र को आपस में जोड़ने में जबरदस्त प्रगति की है, जो आर्थिक विकास में एक आवश्यक योगदान कारक है. उन्होंने कहा कि देश में बुनियादी संरचना क्षेत्र की सबसे बड़ी कंपनी के तौर पर अडाणी समूह देश में सड़क अवसंरचना मालिक एवं संचालक बनने के अपने मिशन के अनुरूप विश्व स्तर के सड़क नेटवर्क का पोर्टफोलियो बनाना चाहता है.