अडाणी ग्रीन: कंपनी को मिला 150 मेगावॉट की सौर परियोजना का अनुबंध, वित्त वर्ष 2023 तक चालू होने की उम्मीद

224
adani
Adani

अडाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) की कंपनी अडाणी रिन्यूएबल इनर्जी होल्डिंग फिफ्टीन लिमिटेड (एआरईएचफिफटीनएल) ने टॉरेंट पावर से 150 मेगावॉट क्षमता की सौर ऊर्जा परियोजना का अनुबंध प्राप्त किया है। अडाणी ग्रीन एनर्जी की पूर्ण स्वामित्व वाली सहायक कंपनी एआरईएचफिफ्टीनएल ने गुजरात में स्थापित किए जाने वाली और ग्रिड से जोड़ी जाने वाली इस सौर फोटोवोल्टिक विद्युत परियोजनाओं के लिए प्रतिस्पर्धी बोलियों की प्रक्रिया के माध्यम से यह परियोजना हासिल की।

25 वर्ष की अवधि के लिए 2.22 रुपये प्रति किलोवॉट है शुल्क
शेयर बाजार बीएसई को दी गई सूचना में कहा गया है कि एआरईएचफिफ्टीनएल को 150 मेगावॉट क्षमता वाली सौर ऊर्जा परियोजना प्रदान की गई है। इस परियोजना क्षमता के लिए निर्धारित शुल्क, 25 वर्ष की अवधि के लिए 2.22 रुपये प्रति किलोवॉट है। इस परियोजना के वित्त वर्ष 2023 के तीसरी तिमाही तक चालू होने की उम्मीद है।

इसमें कहा गया है कि मौजूदा समय में कंपनी की 3,520 मेगावॉट नवीकरणीय ऊर्जा परियोजनाएं चालू हैं। इसके साथ, एजीईएल के पास अब कुल पोर्टफोलियो 15,390 मेगावॉट अक्षय ऊर्जा परियोजना की क्षमता है, जिसमें से 11,870 मेगावॉट की परियोजनाएं कार्यान्वयन के चरण में हैं।

पिछले साल अडाणी ग्रीन एनर्जी ने 205 मेगावॉट की सौर परिसंपत्तियां अपने संयुक्त उद्यम कारोबार को 1,632 करोड़ रुपये में स्थानांतरित की थी। कंपनी का यह संयुक्त उद्यम फ्रांस की ऊर्जा क्षेत्र की दिग्गज कंपनी टोटल एसए के साथ है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को भेजी सूचना में कंपनी ने कहा था कि उसने इससे पहले भारत में 2,148 मेगावॉट की सौर परिसंत्तियों के लिए टोटल के साथ 50:50 का संयुक्त उद्यम बनाया था। 

अडाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) ने 29 अगस्त 2019 को एस्सेल ग्रीन एनर्जी और एस्सेल इंफ्राप्रोजेक्ट्स से 205 मेगावॉट की 10 सौर ऊर्जा परिसंपत्तियों का 1,300 करोड़ रुपये में अधिग्रहण करने की घोषणा की थी।