शेयर मार्केट: संसेक्स की पहली 10 में से 7 कंपनियों को हुआ बड़ा फायदा

458

सेंसेक्स की शीर्ष 10 में से 7 कंपनियों के बाजार पूंजीकरण में बीते सप्ताह 2,28,367.09 करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई. सबसे अधिक फायदे में रिलायंस इंडस्ट्रीज रही. इसके अलावा एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई बैंक, बजाज फाइनेंस और भारतीय स्टेट बैंक के बाजार मूल्यांकन में भी बढ़ोतरी हुई.

शीर्ष 10 कंपनियों की सूची में रिलायंस इंडस्ट्रीज पहले स्थान पर कायम रही. उसके बाद क्रमश: टीसीएस, एचडीएफसी बैंक, इन्फोसिस, हिंदुस्तान यूनिलीवर, आईसीआईसीआई बैंक, एचडीएफसी, बजाज फाइनेंस, एसबीआई और भारती एयरटेल का स्थान रहा.

बाजार नियामक सेबी ने म्युचुअल फंड (Mutual Fund) के लिए जोखिम प्रबंधन ढांचे के क्रियान्वयन की समयसीमा एक अप्रैल 2022 तक के लिए बढ़ा दी है. भारतीय प्रतिभूति एवं विनिमय बोर्ड (Sebi) ने ने कहा कि म्युचुअल फंड (एमएफ) के लिए जोखिम प्रबंधन ढांचा लागू करने की समयसीमा बढ़ाई जा रही है. पहले यह व्यवस्था एक जनवरी 2022 से ही लागू होने वाली थी.

इसके साथ ही नियामक ने कहा कि खास श्रेणी की एमएफ योजनाओं का मानक तय करने वाली द्विस्तरीय संरचना भी अब नई तारीख से लागू होगी. सेबी ने म्युचुअल फंड द्वारा पूल खातों के इस्तेमाल पर दिशानिर्देश जारी करने और बीआरडीएस योजनाओं में निवेश के मानक भी तय करने की बात कही है.

म्युचुअल फंड संचालित करने वाली इकाइयों के संगठन एएमएफआई से मिले प्रतिवेदनों के आधार पर सेबी ने ये सभी फैसले किए हैं. बाजार नियामक ने कहा कि म्युचुअल फंड सिर्फ लेनदेन के ही लिए पूल खातों का इस्तेमाल कर सकती हैं. ये लेनदेन भी फंड स्तर पर ही होने चाहिए. हालांकि इसके लिए फंड हाउस को नियामकीय मंजूरी लेनी होगी.