संकट में मदद: दुनिया के 32 देशों ने कोरोना की दूसरी लहर में भारत को दी सांसें, विदेश मंत्रालय ने साझा की जानकारी

    331

    दुनिया के 32 देशों ने करोना की दूसरी लहर में भारत को भारी सहायता पहुंचाई है। इस सहायता में ऑक्सीजन जनरेटर, ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, वेंटिलेटर, सहायक उपकरण, रेडमेसिविर इंजेक्शन आदि की मदद शामिल है। 

    विदेश मंत्रालय ने यह जानकारी साझा की है। इसके अनुसार अमेरिका, आयरलैंड, रोमानिया, रूस, ब्रिटेन, मॉरीशस, सिंगापुर, थाईलैंड, जर्मनी, फ्रांस, बेल्जियम, सऊदी अरब, इटली, ऑस्ट्रेलिया, बहरीन, कुवैत, कतर, ओमान, बांग्लादेश, स्विट्जरलैंड, नीदरलैंड्स, पोलैंड, डेनमार्क, इस्राइल व अन्य देश शामिल हैं।

    27 अप्रैल से 13 मई के बीच इन देशों ने भारत को यह सहायता सामग्री उपलब्ध कराई। इनमें 17 ऑक्सीजन जनरेटर, 6771 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, 9435 ऑक्सीजन सिलेंडर, 44548 वेंटिलेटर, तीन लाख 97 हजार रेडमेसिविर इंजेक्शन शामिल हैं। 

    सऊदी अरब, फ्रांस, इस्राइल आदि ने करीब 300 टन तरल मेडिकल ऑक्सीजन भेजा है। स्पेन ने 260 एंबुलेंस डिवाइस प्रदान की हैं। फ्रांस ने अस्पताल में ऑक्सीजन उत्पादन के लिए आठ अत्याधुनिक संयंत्र प्रदान किए हैं। इन ऑक्सीजन जनरेटरों में 10 साल तक उच्च गुणवत्ता की ऑक्सीजन सप्लाई करने की क्षमता है। इनमें से चार को दिल्ली के अस्पतालों में लगाया जा रहा है।