Zomato : अंतिम दिन के IPO पर टूट पड़े निवेशक, मिलीं 38 गुना अधिक बोलियां

518

डिलीवरी के अलावा अपने प्लेटफॉर्म पर विभिन्न रेस्टोरेंट के मेन्यू उपलब्ध कराने वाली कंपनी जोमैटो के आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) को तीसरे और अंतिम दिन 38 गुना ज्यादा बोलियां प्राप्त हुईं। आईपीओ के पहले दो दिनों में शांत रहने वाले खुदरा निवेशकों ने अपने लिए आरक्षित शेयरों की संख्या की तुलना में कई गुना अधिक बोलियां लगाई।

शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, ऑनलाइन फूड वितरण कंपनी जोमैटो को इस पेशकश के तहत शामिल 71.92 करोड़ शेयरों के मुकाबले कुल 2,751.25 करोड़ शेयरों के लिए आवेदन मिले। गैर-संस्थागत निवेशकों ने अपने लिए आरक्षित हिस्से के 19.42 करोड़ शेयरों की तुलना में 640 करोड़ शेयरों के लिए आवेदन दिए। जो आरक्षित शेयरों की तुलना में 52 फीसदी अधिक हैं।

इसके अलावा खुदरा व्यक्तिगत निवेशकों ने अपने लिए आरक्षित 12.95 करोड़ शेयरों के मुकाबले कुल 7.45 गुना अधिक बोलियां लगाई। कंपनी को हालांकि कर्मचारियों के हिस्से के रूप में अलग रखे 65 लाख शेयरों के लिए केवल 62 फीसदी आवेदान प्राप्त हुए।

यह आईपीओ बुधवार को खुला था और 16 जुलाई को बंद हुआ था। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को दी गई जानकारी के अनुसार, इसका प्राइस बैंड 72 से 76 रुपये रखा गया था। इसके लिए लॉट साइज 195 शेयरों का था। यानी 195 शेयर और इसके मल्टीपल में शेयरों के लिए बोली लगाई जा सकती थी।

जोमैटो पहले ही 13 जुलाई को 186 एंकर निवेशकों से 4,196.51 करोड़ रुपये जुटा चुकी है। आईपीओ का आकार पहले के 9,375 करोड़ रुपये से घटकर 5,178.49 करोड़ रुपये रह गया है। इसे दूसरा सबसे बड़ा आईपीओ माना जा रहा है। जोमैटो को इस आईपीओ के जरिए कुल 64,365 करोड़ रुपये जुटाने की उम्मीद है।

आईपीओ बाजार में इस वर्ष 40 कंपनियां द्वारा आईपीओ के जरिए 80000 करोड़ रुपये जुटाने की संभावना है। इसमें से 30 कंपनियां पहले ही आईपीओ के माध्यम से 55 हजार करोड़ रुपये जुटाने के लिए दस्तावेज जमा करा चुकी हैं, जबकि 10 कंपनियों की इस महीने 25 हजार करोड़ रुपये जुटाने की योजना है।