तेजी के साथ खुला शेयर बाजार, सेंसेक्स में 500 अंक से ज्यादा उछला, निफ्टी भी 15100 के पार

230
Sensex opening

सप्ताह के चौथे कारोबारी दिन शेयर बाजार जोरदार उछाल के साथ खुला। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज का प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 450.78 अंक की बढ़त के साथ 51,232.47 के स्तर पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 132 अंक की तेजी के साथ 15,114 के स्तर पर खुला। बुधवार को शेयर बाजार जोरदार बढ़त पर बंद हुआ था। सेंसेक्स 1030.28 अंक की तेजी के साथ 50781.28 के स्तर पर बंद हुआ था। वहीं निफ्टी 274.20 अंक की उछाल के साथ 14982 के स्तर पर बंद हुआ था। 

आज शुरुआती कारोबार में प्रमुख शेयरों में ओएनजीसी, एक्सिस बैंक, हिंडाल्को, कोल इंडिया और एसबीआई के शेयर हरे निशान पर खुले। वहीं टेक महिंद्रा, सिप्ला, एचसीएल टेक, इंडसइंड बैंक और एल एंड टी के शेयर लाल निशान पर खुले।

सेक्टोरियल इंडेक्स में आज सभी सेक्टर्स की शुरुआत बढ़त पर हुई। इनमें एफएमसीजी, आईटी, रियल्टी, मीडिया, बैंक, फार्मा, फाइनेंस सर्विसेज, ऑटो, पीएसयू बैंक, मेटल और प्राइवेट बैंक शामिल हैं।

पिछले कारोबारी दिन सेंसेक्स 123.31 अंक की बढ़त के साथ 49,874.72 के स्तर पर खुला था। वहीं निफ्टी 36 अंक ऊपर 14,743.80 के स्तर पर खुला था। 

बुधवार को बीएसई और एनएसई पर सामान्य कारोबार शाम 5 बजे तक चला। एनएसई पर बुधवार को तकनीकी गड़बड़ी की वजह से ट्रेडिंग बंद कर दी गई थी। एक्सचेंज ने फ्यूचर एंड ऑप्शन मार्केट सहित सभी सेग्मेंट को 11:40 AM पर बंद कर दिया था। स्टॉक एक्सचेंज ने बताया कि टेलीकॉम लिंक में तकनीकी दिक्कत की वजह से एनएसई सिस्टम प्रभावित हुए। एनएसई पर ट्रेडिंग में हुई रुकावट की वजह से दोनों एक्सचेंज ने बाजार बंद होने के सामान्य समय के बाद ट्रेडिंग फिर से शुरु करने का फैसला लिया।

कल के एनएसई पर ट्रेडिंग रुकने के बाद से एक्सचेंज का स्टेटमेंट सामने आया है। एनएसई ने एक बयान में कहा कि ऑनलाइन जोखिम प्रबंधन प्रणाली के न रहने से कल बाजार का कामकाज सामान्य रूप से जारी नहीं रह सका और इसलिए इसे बंद करना पड़ा। बयान में कहा गया कि एनएसई इस समस्या के समाधान पर लगातार काम कर रहा था और एक बार इसे हल करने के बाद बाजार में दोबारा काम-काज चालू हो सका। एनएसई सेबी के साथ संपर्क में है और उस हर जानकारी मुहैया कराई जाती है।

शेयर बाजारों में बुधवार को जोरदार तेजी से निवेशकों की पूंजी में 2.60 लाख करोड़ रुपये की बढ़ोतरी हुई। बीएसई की सूचीबद्ध कंपनियों का बाजार पूंजीकरण (मार्केट कैप) 2,60,576.03 करोड़ रुपये बढ़कर 2,03,98,816.57 करोड़ रुपये पर पहुंच गया।