कोरोना की उत्पत्ति का पता लगाने गयी डब्ल्यूएचओ की टीम ने वुहान अनुसंधान प्रयोगशाला का किया दौरा

550
china corona news
china corona news

विश्व में जहां कोरोना संक्रमितों की संख्या 10.44 करोड़ के पार हो गई है वहीं मृतक संख्या भी 22.65 लाख का आंकड़ा पार कर गई है। इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के जांच दल ने बुधवार को चीन स्थित वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी अनुसंधान केंद्र का दौरा किया। यह केंद्र इसलिए अहम है क्योंकि दुनियाभर में आशंका जताई जा रही है कि कोरोना वायरस की उत्पत्ति यहीं से हुई है।

दल के एक सदस्य ने कहा कि उनका इरादा प्रमुख कर्मचारियों से मुलाकात करने और अहम मुद्दों पर उनसे जानकारी लेना है ताकि पता लगाया जा सके कि वायरस की उत्पत्ति कहां से हुई और कैसे यह फैला। केंद्र के आगे के प्रवेश द्वार पर वर्दीधारी और सादी वर्दी में सुरक्षाकर्मी तैनात थे लेकिन दल के सदस्यों ने पीपीई किट नहीं पहन रखी थी।

चीन में वुहान इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी शीर्ष विषाणु अनुसंधान प्रयोगशालाओं में से एक है। वर्ष 2003 में सार्स महामारी के बाद चमगादड़ से फैलने वाले कोरोना वायरस पर आनुवंशिक सूचना के संग्रह के लिए इस संस्थान का निर्माण किया गया।

चीन ने वुहान से कोरोना वायरस के प्रसार की संभावना से न सिर्फ साफ इनकार किया है बल्कि उसका कहना है कि वायरस कहीं और से फैला चीन के इस तर्क को अंतरराष्ट्रीय वैज्ञानिकों एवं एजेंसियों ने बार-बार खारिज किया है।

जापानी प्रसारक टीबीएस द्वारा प्रसारित फुटेज के मुताबिक, प्राणीविज्ञानी और दल के सदस्य पीटर दासजक ने कहा, हम यहां सभी प्रमुख लोगों से मुलाकात करने और उनसे वे महत्वपूर्ण सवाल पूछने की मंशा रखते हैं जिन्हें पूछे जाने की जरूरत है।

उच्च सुरक्षा वाले केंद्र में दल के सदस्यों के साथ संवाददाता भी गए थे लेकिन जैसा पूर्व में हो चुका है, दल के सदस्यों तक उनकी बेहद कम सीधी पहुंच थी और उन्हें चर्चाओं व इस दौरे के बारे में बेहद सीमित जानकारी उपलब्ध कराई गई।