सैफ अली खान की वेब सीरीज ‘तांडव’ के विवादित सीन में होगा बदलाव, अली अब्बास ज़फ़र ने सूचना-प्रसारण मंत्रालय को कहा शुक्रिया

217

तांडव को लेकर सोशल मीडिया में बवाल और सियासत में उबाल को ठंडा करने के लिए आख़िरकार उन दृश्यों को हटाने का फ़ैसला कर लिया गया है, जिनको लेकर तमाम लोगों की धार्मिक और जातिगत भावनाएं आहत हो रही थीं। सीरीज़ के सह निर्माता और निर्देशक अली अब्बास ज़फ़र ने सोशल मीडिया के ज़रिए यह फ़ैसला सार्वजनिक किया। इस क़दम के बाद तांडव को लेकर उठा विवाद सुलटता नज़र आ रहा है।

अली ने ट्विटर पर कास्ट और क्रू की ओर से स्टेटमेंट जारी किया, जिसमें कहा गया- हम अपने देश के लोगों की भावनाओं की बेहद कद्र करते हैं। हमारा किसी व्यक्ति, जातीय समुदाय, धर्म और आस्था का अपमान करने या किसी संस्थान, राजनीतिक दल या जीवित या मृत व्यक्ति की बेइज़्ज़ती करने का इरादा नहीं था। तांडव की कास्ट और क्रू ने फ़ैसला किया है कि जिन हिस्सों पर आपत्ति जतायी गयी है, उन्हें बदल दिया जाए। हम सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय का भी हमारा सपोर्ट करने और दिशा दिखाने के लिए आभार व्यक्त करते हैं। अगर सीरीज़ की वजह से अनजाने में किसी का दिल दुखा हो तो हम एक बार फिर माफ़ी मांगते हैं।

बता दें कि तांडव 15 जनवरी को अमेज़न प्राइम पर स्ट्रीम की गयी थी। सीरीज़ के पहले एपिसोड के एक दृश्य को लेकर विवाद शुरू हुआ, जिसमें मोहम्मद ज़ीशान अय्यूब सांकेतिक रूप से भगवान शिव के अवतार में थे। इस दृश्य में कुछ ऐसे संवाद थे, जिन पर आपत्ति जतायी गयी है। वहीं, आगे के एपिसोड्स में जातिगत टिप्पणियों पर भी एतराज़ जताया गया।

इसके बाद सीरीज़ पर हिंदू धर्म के लोगों की भावनाओं का अपमान के आरोपों को लेकर विरोध बढ़ता गया। सोशल मीडिया में मामले को तूल पकड़ता देख इसकी प्रतिक्रिया राजनीतिक गलियारों में भी सुनाई देने लगी। कई नेताओं ने सूचना प्रसारण मंत्रालय से सीरीज़ को ओटीटी प्लेटफॉर्म से हटाने और बैन करने की मांग की। मेकर्स को क़ानूनी नोटिस भेजे गये और पुलिस रिपोर्ट दर्ज़ करवायी गयीं। सूचना प्रसारण मंत्रालय ने अमेज़न प्राइम के अधिकारियों को तलब किया। बवाल बढ़ने पर सोमवार शाम को अली अब्बास ज़फ़र ने माफ़ीनामा जारी किया और बताया कि सूचना प्रसारण मंत्रालय के साथ विमर्श करके वो इसका हल निकालने की कोशिश कर रहे हैं।

तांडव एक पॉलिटिकल-थ्रिलर सीरीज़ है, जिसमें सैफ़ अली ख़ान, डिम्पल कपाड़िया, मोहम्मद ज़ीशान अय्यूब, तिग्मांशु धूलिया, कुमुद मिश्रा, सुनील ग्रोवर, गौहर ख़ान अनूप सोनी, डीनो मोरिया, संध्या मृदुल और शोनाली नागरानी अहम किरदारों में नज़र आये हैं। सीरीज़ आर्टिकल 15 जैसी फ़िल्म लिखने वाले गौरव सोलंकी ने लिखा है। निर्माता-निर्देशक अली अब्बास ज़फ़र का यह ओटीटी प्लेटफॉर्म पर डेब्यू है।