दिग्गज बंगाली अभिनेता सौमित्र चटर्जी का 85 साल की उम्र में निधन, सिनेमा जगत में शोक की लहर

    605

    दिग्गज बंगाली अभिनेता सौमित्र चटर्जी का निधन हो गया है। वह 85 साल के थे। मशहूर बांग्ला एक्टर सौमित्र चटर्जी की हालत पिछले एक महीने से काफी गंभीर थी। उन्हें कोलकाता के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उनका इलाज चल रहा था।

    85 वर्षीय सौमित्र चटर्जी को जीवन रक्षक प्रणाली पर रखा गया था। उनका इलाज कर रहे एक डॉक्टर्स की टीम ने कुछ घंटे पहले ही बताया था कि ‘हमारी सभी कोशिशों के बावजूद उनका फिजियोलॉजिकल सिस्टम प्रतिक्रिया नहीं कर रहा है। उनकी हालत पहले से ज्यादा खराब है। उन्हें हर तरह के सपोर्ट सिस्टम पर रखा गया है। वह जिंदगी से जूझ रहे हैं।’

    सौमित्र चटर्जी को कोरोना वायरस के सकारात्मक परीक्षण के ठीक एक दिन बाद 6 अक्टूबर को अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनका 14 अक्टूबर को दोबारा कोरोना का टेस्ट किया गया, जिसकी रिपोर्ट निगेटिव आई लेकिन स्वास्थ्य जटिलताओं, विशेष रूप से COVID-19 प्रेरित एन्सेफैलोपैथी के कारण उन्हें अस्पताल में ही भर्ती रखा गया था।

    सौमित्र चटर्जी को सिनेमा में योगदान के लिए पद्म भूषण, दादा साहेब फाल्के पुरस्कार (2012 ) और राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से नवाजा गया था। साल 2018 में उन्हें फ्रांस सरकार ने लीजन ऑफ ऑनर से भी सम्मानित किया था। यह फ्रांस का सबसे बड़ा नागरिकता सम्मान है।

    सौमित्र चटर्जी ने अपने करियर की शुरुआत सत्यजीत रे की फिल्म ‘अपुर संसार’ से की थी। उन्होंने ऑस्कर विजेता फिल्मकार सत्यजीत रे के साथ 14 फिल्में की थीं। चटर्जी ने अपने करियर में करीब 100 फिल्मों में काम किया है, जिनमें दो हिंदी फिल्में ‘निरुपमा’ और ‘हिंदुस्तानी सिपाही’ भी शामिल हैं। उन्होंने हिंदी में ‘स्त्री का पत्र’ नाम से फिल्म डायरेक्ट भी की थी।