उत्तराखंड में बारिश बनी आफत, अबतक 40 लोगों की हुई मौत, वायुसेना हेलीकॉप्टर से कर रही रेस्क्यू

    325

    उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश अब लोगों के लिए आफत का रूप ले चुकी है. यहां भारी बारिश के कारण अबतक 40 लोगों की मौत हो गई है वहीं कई लोग लापता हैं और कई लोग घायल हैं. भारी बारिश के कारण सड़कों पर जलभराव की स्थिति देखने को मिल रही है. साथ ही नदियों में तेज बहाव के कारण पुल टूट गए हैं. इस कारण स्थानीय पर्यटक फंसे हुए हैं. वायुसेना द्वारा लोगों को सुरक्षित रेस्क्यू करने का काम जारी है. बता दें कि राज्य के अलग अलग हिस्सों में जारी बारिश के कारण 40 लोगों की मौत हो गई है इसमें से 25 मौतें अकेले नैनीताल में हुई हैं.

    राज्य के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने बाढ़ पीड़ितों के लिए मुआवजे का ऐलान किया है. मृतकों के परिजनों को 4-4 लाख रुपये दिए जाएंगे व जिनकी संपत्ति को नुकसान हुए हैं घर टूटे हैं उन्हें 1 लाख 9 हजार रुपये व जिनके पशुधन की हानि हुई है राज्य सरकार द्वारा उन्हें भी मुआवजा दिया जाएगा.

    नैनीताल में 25 लोगों की मौत
    नैनीताल में 25 लोगों की मौत हो गई है. स्टेट इमरजेंसी ऑपरेशन सेंटर के मुताबिक कुमाऊं में पांच लोगों की मौत, नैनीताल में 25, अल्मोड़ा में 3 और चंपावत और उधम सिंह नगर जिलों में एक एक व्यक्ति की मौत दर्ज की गई है. भूस्खलन के कारण नैनीताल में रास्ते बंद पड़े हैं वहीं मॉल रोड के नजदीक नैनी दैवी मंदिर में भी पानी भर गया है. बत दें कि होटलो व रेसिडेंस इत्यादि कई स्थानों पर पानी भर जाने के कारण जगह-जगह पर्यटक भी फंसे हुए हैं.

    वायुसेना कर रही रेस्क्यू
    भारतीय वायुसेना (IAF) द्वारा राहत बचाव कार्य किया जा रहा है. बता दें कि नैनीताल में बादल फटने और भूस्खलन के कारण सबसे ज्यादा तबाही यहीं देखने को मिल रही है. वहीं गई जिलों में हेलीकॉप्टर से लोगों को बचाने का काम जारी है. पंतनगर के सुंदर खल गांव से 25 लोगों को वायुसेना ने सुरक्षित रेस्क्यू किया है.