उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल फीवर का प्रकोप – फिरोजाबाद में अब तक 54 लोगो की हुई मौत, मथुरा के गांवों में तेजी से बढ़ते मामलों से दहशत

    326

    उत्तर प्रदेश में डेंगू और वायरल फीवर का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। फिरोजाबाद, मथुरा, बलिया जैसे जिलों में परेशानी लगातार बढ़ रही है। यहां अस्पतालों में मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है। जहां एक तरफ फिरोजाबाद के मेडिकल कॉलेज में 430 मरीज भर्ती हैं। वहीं मथुरा के कई गांवों में भी इसका प्रकोप और केस बढ़ते जा रहे हैं। मथुरा में अब तक एक दर्जन से अधिक बच्चों की मौत हो चुकी है।

    मथुरा में मंगलवार को राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग की रजिस्ट्रार अनु चौधरी भी पहुंचीं। यहां उन्होंने जिला अस्पताल का निरीक्षण करने के साथ ही स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर सीएमओ से जानकारी भी ली। उन्होंने बताया कि जिन बच्चों की मौत यहां हुई है, उनकी जांच करने के साथ ही अस्पताल में स्वास्थ्य व्यवस्थाओं को लेकर भी जांच रिपोर्ट तैयार की जाएगी। उधर, फिरोजाबाद में भी सीएम के निर्देश पर डॉक्टरों की विशेष टीम ने प्रभावित क्षेत्रों का दौरा किया। इस दौरान मरीजों के परिजनों से बातचीत की गई और स्वास्थ्य सेवाओं का भी जायजा लिया।

    फिरोजाबाद शहर के तमाम हिस्सों में दवा का छिड़काव
    जानकारी के अनुसार, फिरोजाबाद में डेंगू और वायरल फीवर के मरीज सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में पहुंच रहे हैं। बताया गया है कि दिल्ली में इलाज करा रहे एक बच्चे की भी मौत हो गई है। वहीं, जिला प्रशासन पीड़ितों की मदद और जागरूक करने के लिए अभियान चला रहा है। जिला प्रशासन और नगर निगम की ओर से मंगलवार को विशेष अभियान चलाकर शहर में के तहत पूरे शहर में दवा का छिड़काव किया गया। इसके साथ ही मरीजों के हाल जानने के लिए डॉक्टरों की विशेष टीम लखनऊ से पंहुची है।

    ब्लड डोनेशन कैंप भी लगाए जा रहे
    बताया गया है कि बुखार के दौरान ब्लड प्लेटलेट्स तेजी से कम होने की भारी शिकायत के चलते खून की कमी सामने आ रही है। इसके लिए विभिन्न सामाजिक संगठन और पुलिस के जवान भी रक्तदान करने के लिए विशेष कैंप लगा रहे हैं। बड़ी संख्या में रक्तदान कर परेशान मरीजों की मदद की जा रही है। बताया गया है कि जरूरत पड़ने पर मेडिकल कॉलेज और जिला प्रशासन की ओर से कानपुर, लखनऊ, आगरा से भी प्लेटलेट्स की व्यवस्था की जा रही है।