यूपी के स्वास्थ्य विभाग ने माना – फिरोजाबाद में वायरल एवं डेंगू बुखार से हुईं 41 मौतें, इनमें अधिकतर शहरी लोग

    470
    Dengue

    उत्तर प्रदेश के स्वास्थ्य विभाग ने मान लिया है कि अब तक 41 लोगों की वायरल एवं डेंगू बुखार से मौत हो चुकी है. इनमें से 36 लोग शहर के हैं, जबकि पांच ग्रामीण क्षेत्र से हैं. इनमें ज्यादातर बच्चे हैं जिन्हें निर्जलीकरण, पेट दर्द, प्लेटलेट गिरने के साथ बहुत तेज बुखार हुआ है और अनायास ही वे मौत का शिकार हुए हैं. अपर निदेशक स्वास्थ्य आगरा मंडल ए के सिंह एवं फिरोजाबाद मेडिकल कॉलेज की प्रधानाचार्य डॉ. संगीता अनेजा ने प्रभावित इलाकों का दौरा किया और वार्ड में मरीजों का हाल भी जाना.

    स्वास्थ्य विभाग के अनुसार 18 सदस्यीय चिकित्सा दल अलग अलग टुकडियों में मेरठ, आगरा एवं कानपुर से फिरोजाबाद पहुंच चुका है. इसके अलावा सर्विलांस की टीम भी प्रभावित क्षेत्रों में घूमकर इस बात का पता लगा रही है कि जिन मच्छरों से यह बुखार फैल रहा है वह किस प्रकार (वेरिएंट) का है.

    उत्तर प्रदेश सरकार ने फिरोजाबाद जिले में डेंगू के कारण हुई मौतों के मामले पर कड़ा रुख अपनाते हुए जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी का तबादला कर दिया. अनेजा ने बताया कि अब तक 538 लोग पिछले एक सप्ताह में मेडिकल कॉलेज में अपना परीक्षण करा चुके हैं, जिसमें 126 मामलों में डेंगू पॉजिटिव आया है. उन्होंने बताया कि वे सभी एंटीजन टेस्ट के द्वारा जांचे गए हैं, मेडिकल कॉलेज द्वारा 27 नमूने एलाइजा के लखनऊ परीक्षण के लिए भेजे गए थे जिनमें 22 नमूनों में डेंगू की पुष्टि हुई है।

    उन्होंने बताया कि अभी तक जितने भी नमूने लिये गए हैं, उनमें किसी में भी कोविड-19 संक्रमण नहीं पाया गया है. उनका कहना था कि अचानक पानी की कमी एवं पेट में संक्रमण के साथ तेज बुखार आने के कारण बच्चों की रोग प्रतिरोधक क्षमता कम हो जाती है और वह मौत का शिकार हो जाते हैं. उन्होंने कहा कि सर्विलांस की टीम लगातार इस बात का पता लगा रही है कि किस वैरीअंट का वायरस फिरोजाबाद जनपद क्षेत्र में फैला हुआ है. उनके अनुसार फिरोजाबाद की तरह मथुरा में भी डेंगू का कहर जारी है जिसमें यह पाया गया है कि जो बुखार है वह पशु जनित भी हो रहा है. हम लोग इसकी भी जांच कर रहे हैं .

    उन्होंने बताया कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) की 11 सदस्यीय दल आज बुधवार रात तक फिरोजाबाद पहुंच जाएगी और वह इस वेरिएंट का जांच कर पता लगाएगी. अनेजा ने बताया कि मेडिकल कॉलेज में 300 बिस्तरों की क्षमता हैं, जिसमें से 240 बिस्तर रोगियों से भरे हुए हैं. उनके अनुसार 100 बिस्तरों की क्षमता बढ़ाई जा रही है. उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर सभी आवश्यक कदम उठाए जा रहे हैं, इसी कड़ी में 35 नमूने केजीएमसी लखनऊ जांच के लिए भेजे गए थे. इनकी रिपोर्ट देर रात्रि तक मिल जाएगी वहीं इनमें से कुछ नमूने नेशनल वायरोलॉजी लैब पुणे भी भेजे गए हैं जिनकी रिपोर्ट की प्रतीक्षा है.

    समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्यक्ष अखिलेश यादव एवं बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती ने वायरल एवं डेंगू बुखार से हुई मौतों पर उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार को कठघरे में खड़ा किया हैं. इससे पहले फिरोजाबाद सदर क्षेत्र से भाजपा विधायक मनीष असीजा ने कहा था कि इस मच्छर जनित बीमारी से जिले में अब तक मरने वालों की संख्या बढ़कर 44 हो गई है. उन्होंने बताया था कि सोमवार रात तीन लोगों तथा मंगलवार को दो लोगों की मौत के साथ जिले में डेंगू से मरने वालों की संख्या बढ़कर 44 हो गई है.