झांसी में राजनाथ सिंह बोले – योगी आदित्यनाथ ने यूपी में चमत्कार किए हैं, सपा को चुनाव में शीर्षासन कराएंगे

407
Rajnath singh
Rajnath singh

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने झांसी में कहा कि उत्तर प्रदेश (UP) के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की ‘इनस्विंगर’ और ‘आउटस्विंगर’ गेंदों का सामना करने की हिम्मत किसी में नहीं है. रक्षा मंत्री ने भाजपा (BJP) की ‘जन विश्वास रैली’ को संबोधित करते हुए कहा “मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने चमत्कार किए हैं. यह वैसे तो दो अक्षरों का नाम है, लेकिन इसे सुनकर अपराधी घबराहट महसूस करते हैं. इससे पहले अपराधी सूर्यास्त के बाद देसी पिस्टल लेकर बाहर आ जाते थे लेकिन अब ऐसा करने की हिम्मत किसी में नहीं है.” राजनाथ ने कहा “योग में 84 योगासन होते हैं. उत्तर प्रदेश में विकास की प्रक्रिया में 84 में से 83 आसन हो चुके हैं. एक आसन समाजवादी पार्टी के लिए बचा है. वह शीर्षासन है और चुनाव में ऐसा होगा.

राजनाथ सिंह ने कहा कि मैंने योगी आदित्यनाथ को काम करते हुए देखा है. वह एक हरफनमौला हैं. वह बल्लेबाजी अच्छी करते हैं और जब वह गेंदबाजी करते हैं तो वह चाहे सपा हो, बसपा हो या कांग्रेस, सबका स्टंप उखाड़ देते हैं. उनकी ‘इनस्विंगर’ और ‘आउटस्विंगर’ गेंदों का सामना करने की हिम्मत किसी भी दल में नहीं है.” सिंह ने लोगों से भाजपा को आगामी विधानसभा चुनाव में 325 से ज्यादा सीटें दिलाने की अपील की.

राजनाथ सिंह ने दावा किया कि अमेरिका, रूस, चीन और ब्रिटेन जैसे विकसित देश कोविड-19 महामारी का सफलतापूर्वक सामना नहीं कर सके, मगर भाजपा सरकार इससे निपटने में सफल रही. पाकिस्तान का जिक्र करते हुए रक्षा मंत्री ने कहा “एक हमारा पड़ोसी देश है जो हमसे अलग होकर बना था. हमसे अलग होने के बाद पाकिस्तान हमारे देश को तोड़ने की कोशिश कर रहा है. उसने हमारी धरती पर आतंकवादी भेज कर जम्मू कश्मीर में आतंकवादी घटनाएं कराई. हमने भी उनका मुंह तोड़ जवाब देने का फैसला किया है और हम जवाब दे भी रहे हैं.” उन्होंने कहा “पाकिस्तान ने उरी और पुलवामा में आतंकवादी हमले किए तो भारत ने पाकिस्तान के आतंकवादी ठिकानों को ध्वस्त कर दिया. हमने सर्जिकल स्ट्राइक और एयर स्ट्राइक की.”

राजनाथ सिंह ने चीन का नाम लिए बगैर कहा “एक और पड़ोसी देश है. मैं यहां उसकी चर्चा नहीं करना चाहता लेकिन रक्षा मंत्री के रूप में मैं विश्वास दिलाना चाहता हूं कि आप हम पर भरोसा रखें. हम देश का सिर झुकने नहीं देंगे चाहे. हमें इसके लिए कोई कुर्बानी ही क्यों न देनी पड़े. हमें अपने जवानों पर भरोसा रखना होगा.”