यूपी विधानसभा चुनाव 2022: प्रियंका गांधी बोलीं- उत्तर प्रदेश की माटी में मेरे पूर्वजों का खून, यहां के लोगों के लिए लड़ती रहूंगी

408
Priyanka Gandhi
Priyanka Gandhi

उत्तर प्रदेश विधानसभा के अंतिम चरण के चुनाव में अब मात्र एक चरण शेष रह गया है. आखिरी चरण के प्रचार के आखिरी दिन कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने कहा कि यूपी में जब तक एक सच्ची राजनीति नहीं आती, तब तक वह प्रदेश का साथ नहीं छोड़ेंगी. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा गाजीपुर में जनसभा को संबोधित करते हुए कहा, जब तक इस उत्तर प्रदेश में एक सही, एक नई और एक सच्ची राजनीति उभर कर नहीं आएगी, तब तक मैं आपके लिए लड़ती रहूंगी, आपके प्रदेश के लिए लड़ती रहूंगी, कोई मुझे रोक नहीं पाएगा. दो दिन बाद आप निर्णय लीजिए कि आपको क्या चाहिए.

प्रियंका गांधी ने कहा- इस माटी में मेरे पूर्वजों का खून मिला हुआ है. मैं आपके साथ कंधे से कंधा मिलाकर लड़ती रहूंगी. मैं आपकी समस्याएं उठाती रहूंगी. मैंने निर्णय ले लिया है. अब आपको निर्णय लेना है. प्रियंका गांधी बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा जिन्हें आपने उधार में सत्ता दी उनसे ब्याज के साथ वापस ले लीजिए. अगर इंसान को बेलगाम सत्ता दे दो. अगर इंसान को ये बता दो कि तुम्हारी कोई जवाबदेही नहीं है तो उसकी मानसिकता एकदम खराब हो जाती है. वो समझने लगता है कि सत्ता उसकी है. वो भूल जाता है कि जनता ने दी है. जो परेशानियां आपको दी हैं. जिस तरह से आपको त्रस्त किया है. परेशान किया है, उसे बदल डालिए. सबक सिखाइये.

प्रियंका ने कहा कि जहां से रोजगार निकलना था, सबको बेच डाला. रोजगार की बातें कर रहे है. उन्होंने केंद्र पर आरोप लगाते हुए कहा सरकारी नौकरियों की भर्ती तो करा नहीं रहे, बड़ी-बड़ी संस्थाएं बेंच डाली. जो सरकार रोजगार नहीं देती, वो अपने आप को राष्ट्रवाद नहीं कह सकती. नौजवानों को मजबूत नहीं किया तो राष्ट्रवादी नहीं है. राष्ट्रवादी होने के लिए देश के लिए खून देना पड़ता है. उन्होंने जनता से कहा कि आपका इस्तेमाल हो रहा है.

उल्लेखनीय है कि उत्तरप्रदेश के सातवें चरण में राजनीति के कई दिग्गजों मुख्यमंत्री योगी समेत सरकार के छह मंत्रियों की परीक्षा होगी. सातवें चरण में आजमगढ़, मऊ, जौनपुर, गाजीपुर, चंदौली, वाराणसी, मीर्जापुर, सोनभद्र और भदोही जिलों में मतदान होना है. इन जिलों की 54 सीटों पर कुल 613 प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं जिनके भाग्य का फैसला 2.06 करोड़ मतदाता एक दिन बाद करेंगे. पिछले चुनाव में इन 54 सीटों में से बीजेपी ने 29, समाजवादी पार्टी ने 11, बहुजन समाज पार्टी ने छह, अपना दल (एस) ने चार, सुभासपा ने तीन और निषाद पार्टी ने एक सीट जीती थी.