UP: मुरादाबाद में दिल्ली से भी ज्यादा जहरीली हुई हवा, यहाँ सांस लेना भी दूभर हो गया है

516

देश की राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में ही सिर्फ वायु प्रदूषण की समस्या नहीं है, बल्कि अन्य शहरों में भी जहरीली हवा लोगों के लिए सिर दर्द बन गया है. अब खबर है कि उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद में भी प्रदूषण बढ़ने की वजह से वायु गुणवत्ता खराब हो गई है. इससे लोगों का स्‍वच्‍छ हवा में सांस लेना दूभर हो गया है. प्रदूषण का आलम यह है कि कई स्थानों पर विजिबिलिटी काफी कम हो गई है.

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, बुधवार को मुरादाबाद में वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद खराब श्रेणी में दर्ज किया गया. यहां पर आज सुबह एक्यूआई 415 पर पहुंच गया. एक स्थानीय निवासी ने बताया कि पिछले 7-8 दिनों से प्रदूषण बढ़ गया है. इससे आंखों में जलन हो रही है. साथ ही सांस लेने में तकलीफ हो रही है.

दरअसल, 0 और 50 के बीच एक्यूआई को अच्छा, 51 और 100 के बीच संतोषजनक, 101 और 200 के बीच मध्यम, 201 और 300 के बीच खराब, 301 और 400 के बीच बेहद खराब और 401 से 500 के बीच बेहद गंभीर माना जाता है.

बता दें कि मंगलवार को वायुमंडल में प्रदूषकों के बढ़ने की वजह से दिल्ली में वायु गुणवत्ता सूचकांक बेहद गंभीर श्रेणी में पहुंच गया था. मंगलवार सुबह आनंद विहार में भी बेहद गंभीर श्रेणी में हवा की गुणवत्ता पहुंच गई. इससे आसामान में धुंध छा गई थी.

सोमवार को खबर सामने आई थी कि वायुमंडल में प्रदूषकों के बढ़ने की वजह से दिल्ली में औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक 362 पर पहुंच गया है. वहीं, सोनिया विहार, बवाना में 345, पटपड़गंज में 326 और जहांगीरपुरी में एक्यूआई 373 रिकॉर्ड किया गया था. यह बेहद गंभीर श्रेणी में है. इससे लोगों को सांस लेने में परेशानी हो रही है. खासकर कोरोना मरीजों के साथ यह समस्या ज्यादा बढ़ गई है.