ईरानी विदेश मंत्री : इस्राइल अपनी सुरक्षा तो कर नहीं सकता, यूएई की क्या करेगा

259
FILE PHOTO

इस्राइल और संयुक्त अरब अमीरात के बीच हुए संबंधों को सामान्य करने के लिए किए गए समझौते पर कई इस्लामिक देश बिफरे हुए हैं. जिन कुछ देशों को यह समझौता रास नहीं आया है, उनमें एक ईरान भी है. ईरान के विदेश मंत्री जावद जरीफ ने एक बार फिर अपनी नाराजगी दिखाते हुए कहा है कि यूएई हाल ही में इस्राइल के साथ संबंधों को सामान्य करने के लिए किए गए समझौते के जरिए ज्यादा सुरक्षित नहीं हो सकता है.

रिपोर्ट्स के मुताबिक, ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जावद जरीफ ने सोमवार को कहा, ‘यूएई ने सुरक्षा खरीदने के लिए इजरायल का रुख किया, जबकि इस्राइल खुद को सुरक्षित रखने में भी असमर्थ है. अगर आपके पड़ोसी सुरक्षित नहीं हैं, तो आप सुरक्षित नहीं हो सकते.’ उन्होंने कहा कि क्षेत्र के देशों के बीच सहयोग क्षेत्र में व्यापार संबंधों और राजनीतिक संवाद के लिए एक उपयुक्त आधार प्रदान करेगा, जिसे बाद में क्षेत्र से बाहर के देशों के साथ बढ़ाया जा सकता है.

ईरान ने संबंधों को सामान्य करने के लिए इस्राइल और यूएई के बीच हुए हालिया समझौते की कड़ी निंदा की है. ईरान के अलावा तुर्की और पाकिस्तान में भी इस समझौते को लेकर काफी कड़ी प्रतिक्रिया देखने को मिली थी. वहीं, फिलीस्तीन ने तो इसे संयुक्त अरब अमीरात की तरफ से दिया गया एक बड़ा धोखा बताया था. बता दें कि 13 अगस्त को इस्राइल और यूएई ने ‘संबंधों को पूर्ण रूप से सामान्य बनाने’ की दिशा में काम करने के लिए अमेरिका की मध्यस्थता के बीच एक समझौता किया था.