TMC सांसद अभिषेक बनर्जी ने ज्वाइन किया Koo App, पहले ही पोस्ट में योगी सरकार पर बंगाल की तस्वीरें चुराने का लगाया आरोप

544

एक प्रमुख अंग्रेजी अखबार के एडवरटोरियल में गलत तस्वीर लग जाने की वजह से बीजेपी और योगी सरकार की खूब किरकिरी हो रही है. तृणमूल कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के नेता लगातार योगी सरकार पर निशाना साध रहे हैं. विपक्षी पार्टी के नेताओं का कहना है कि अखबार के एडवरटोरियल में फ्लाईओवर की जो तस्वीर इस्तेमाल की गई है वह कोलकाता की है. अब ममता बनर्जी के भतीजे और टीएमसी के राष्ट्रीय महासचिव अभिषेक बनर्जी ने भी योगी सरकार पर हमला बोला है. अभिषेक बनर्जी ने आज ही सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ‘कू’ पर एंट्री की और पहले पोस्ट में ही योगी सरकार पर हमला बोल दिया.

अभिषेक बनर्जी ने अपने पोस्ट में लिखा, “योगी आदित्यनाथ के लिए यूपी को बदलने का मतलब है ममता बनर्जी की अगुवाई में हुए विकास कार्यों की तस्वीरों को चुराना और उन्हें अपने लिए इस्तेमाल करना! ऐसा लगता है कि बीजेपी के सबसे मजबूत राज्य में ‘डबल इंजन मॉडल’ की सरकार बुरी तरह से विफल हो गयी है और अब ये सच सबके सामने है.”

क्या है पूरा मामला
दरअसल, इंडियन एक्सप्रेस अखबार में योगी सरकार का एक विज्ञापन पब्लिश हुआ है, जिसमें यूपी के विकास की तस्वीर दिखाई गई है. तस्वीर को लेकर टीएमसी ने दावा किया है कि ये तस्वीर कोलकाता के फ्लाईओवर की है. वहीं योगी सरकार के अधिकारियों का कहना है कि ये विज्ञापन नहीं, एडवरटोरियल है. ये अखबार की ओर से छापा जाता है. इसमें पेज डिजाइनिंग का काम भी अखबार का ही होता है. इसलिए तस्वीर की जिम्मेदारी अखबार की है.

खास बात ये है कि अखबार ने भी अपनी गलती स्वीकार की है. अखबार ने खेद जताते हुए कहा कि मार्केटिंग डिपार्टमेंट ने गलत तस्वीर लगा दी. अखबार ने ये भी कहा कि सभी डिजिटल प्लेटफॉर्म से तस्वीर हटा दी गई है.

बीजेपी से टीएमसी में शामिल हुए नेता मुकुल रॉय ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते हुए कहा, “श्री नरेंद्र मोदी अपनी पार्टी को बचाने के लिए इतने लाचार हैं कि सीएम बदलने के अलावा उन्हें विकास और बुनियादी ढांचे की तस्वीरों का भी सहारा लेना पड़ा है.” आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय प्रवक्ता और राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने भी तस्वीर शेयर करते हुए कहा, “ऐसा विकास न सुना होगा न देखा होगा. कलकत्ता का फ़्लाईओवर खींचकर लखनऊ ले आए हमारे CM आदित्यनाथ जी. भले ही विज्ञापन में ले आए लेकिन लाए तो.”