उज्बेकिस्तान कफ सिरप मामले में भारत की हो रही बदनामी पर मोदी सरकार ने दिया जवाब..

57
syrup
syrup

उज़्बेकिस्तान में भारत में बनी कफ सिरप पीकर 18 बच्चों की मौतों के मामले में विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बयान दिया है उन्होंने कहा है कि हमने 2 महीने पहले हुए 18 बच्चों की मौतों के मामले की रिपोर्ट देखी है अरिंदम बागची ने आगे कहा कि उज्बेकिस्तान सरकार जांच कर रही है कि इस मामले का भारत में बनी कफ सिरप से कनेक्शन है या नहीं

दरअसल अरिंदम बागची ने कहा कि वहां मौजूद कंपनी के प्रतिनिधियों के खिलाफ उज्बेकिस्तान की ओर से न्यायिक जांच शुरू कर दी गई है भारत की ओर से जरूरी न्यायिक सहायता दी जा रही है वहीं भारतीय स्वास्थ्य मंत्रालय इस मामले को देख रहा है और नोएडा में कंपनी के प्लांट की जांच की जा रही है सवाल तो यह था कि उज़्बेकिस्तान का कफ सिरप केस विश्व में भारत की छवि को नुकसान पहुंचा रहा है तो जवाब में अरिंदम ने कहा कि भारतीय फॉर्मे क्यूटिकल इंडस्ट्रीज पूरे विश्व में भरोसेमंद सप्लायर रही है बाबू जी ने कहा कि भारतीय फार्मेसी इंडस्ट्री अलग-अलग तरह की दवाइयों और प्रोडक्ट को लेकर आगे भी भरोसेमंद रहेगी अरिंदम बागची ने कहा कि जब भी इस तरह के मामले सामने आते हैं तो भारत ने गंभीरता के साथ लेता है

फ़िलहाल भारत के स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडवीया ने इस मामले में कहा था कि खांसी की दवाई के सैंपल जांच के लिए चंडीगढ़ भेजे गए हैं स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सरकार जांच रिपोर्ट के आधार पर ही आगे की कार्यवाही करेगी फिलहाल उज़्बेकिस्तान में सिरप पीकर 18 बच्चों की मौत हो गई है उज़्बेकिस्तान के स्वास्थ्य मंत्रालय का दावा है कि जिन बच्चों की मौत हुई है उन सभी ने भारत के नोएडा स्थित मेरियन बायोटेक में बनी कफ सिरप डाक-1 मैक्स का सेवन किया था हालांकि अभी इस मामले में जांच की जा रही है

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here