भारत में एक दिन में 15-18 साल के 53 लाख से अधिक टीनेजर्स को दी गई कोरोना वैक्‍सीन का पहला डोज

280
vaccination

देश में सोमवार को 15 से 18 वर्ष आयु वर्ग के लिए टीकाकरण अभियान के पहले दिन 50 लाख से अधिक किशोरों ने कोरोनारोधी टीके की पहली खुराक ली। देशभर में इस आयु वर्ग में अनुमानत: 7.4 करोड़ बच्चे हैं। तेलंगाना, केरल, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, ओडिशा, कर्नाटक, पश्चिम बंगाल, पुडुचेरी, मध्य प्रदेश उन राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में शामिल हैं, जिन्होंने सोमवार को अभियान शुरू किया।

कई लाभार्थियों और उनके माता-पिता ने कहा कि महामारी के मामलों में वृद्धि की पृष्ठभूमि वे इसका बेसब्री से इंतजार कर रहे थे। कोविन पोर्टल पर सोमवार रात 10:30 बजे तक के आंकड़े के अनुसार, 15 से 18 वर्ष तक की आयु के 53,64,599 लाभार्थियों ने टीका लगवाया है।

यूपी में दो लाख किशोरों को वैक्सीन लगी
उत्तर प्रदेश में 15 से 18 वर्ष के करीब दो लाख किशोरों को पहले दिन वैक्सीन लगाई गई। प्रदेश में 15 से 18 वर्ष आयु के बच्चों की संख्या लगभग एक करोड़ 40 लाख है। इस आयु वर्ग के लिए प्रदेश में 2,150 बूथ पर टीकाकरण शुरू हुआ है।

उत्तराखंड में पहले दिन करीब 60 हजार किशोरों का टीकाकरण किया गया। राज्य भर में बनाए गए 1300 टीकाकरण बूथों में से 500 पर किशोरों का टीकाकरण किया गया। राज्य में छह लाख 28 हजार के करीब किशोरों का टीकाकरण किया जाना है। इन सभी का टीकाकरण एक सप्ताह में पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

बिहार में डेढ़ लाख किशोरों ने टीके की खुराक ली
बिहार में करीब डेढ़ लाख किशोरों ने टीके की खुराक ली। विद्यालयों में बनाए गए कोरोना टीकाकरण केंद्रों में स्कूल के किशोरों के अतिरिक्त आसपास के बच्चों को भी कोरोना टीका दिया गया। अधिकांश बच्चे, जो स्कूल पहुंचे थे, उनमें कई को टीका दिए जाने की जानकारी नहीं थी, तो उनके अभिभावकों से संपर्क कर उन्हें कोरोना टीका दिया गया।

प्रधानमंत्री ने दी बधाई
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को 15 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के किशोरों के लिए टीकाकरण अभियान के पहले दिन टीका लगवाने वालों और उनके परिजनों को बधाई दी। अभियान में अधिक से अधिक किशोरों से शामिल होने का आह्वान किया। प्रधानमंत्री ने एक ट्वीट में कहा कि कोविड-19 से युवाओं को सुरक्षा प्रदान करने की दिशा में आज हमने एक महत्वपूर्ण कदम आगे बढ़ाया है। टीका लगवाने वाले 15 से 18 वर्ष के आयु वर्ग के सभी किशोरों को बधाई! उनके परिजनों को भी बधाई। मैं युवाओं से आग्रह करूंगा कि आने वाले दिनों में वह भी टीका लगवाएं।

“वेल डन यंग इंडिया!”
केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख ने ट्विटर पर लिखा, “वेल डन यंग इंडिया! बच्चों के टीकाकरण अभियान के पहले दिन रात 8 बजे तक 15-18 आयु वर्ग के 40 लाख से अधिक लोगों ने COVID19 वैक्सीन की अपनी पहली खुराक प्राप्त की। यह भारत के टीकाकरण अभियान के लिए एक और उपलब्धि है।” इससे पहले रविवार को, स्वास्थ्य मंत्री ने राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों (यूटी) को सलाह दी कि वे किसी भी गड़बड़ी से बचने के लिए अलग-अलग टीकाकरण केंद्र, सत्र स्थल, अलग टीकाकरण टीम और कतारें सुनिश्चित करें।

दिल्ली ने 20,998 बच्चों को दी वैक्सीन
दिल्ली सरकार ने बताया कि दिल्ली में सोमवार शाम 6 बजे तक 15-17 आयु वर्ग के 20,998 बच्चों को वैक्सीन की पहली डोज लगाई गई। इसके अलावा असम सरकार ने बताया कि असम में सोमवार को 978 वैक्सीनेशन केंद्रों पर वैक्सीनेशन कार्यक्रम आयोजित किया गया और 15-17 आयु वर्ग के 72,954 बच्चों को शाम 6:00 बजे तक राज्य में वैक्सिन का पहला डोज दिया गया।

पंजाब-चंडीगढ़ में 3071 और 1826 बच्चों को लगी वैक्सीन
पंजाब में 15 साल से 18 साल के बीच के 3,071 बच्चों को वैक्सीन की पहली खुराक दी गई। चंडीगढ़ में शहर भर के 10 केंद्रों पर कुल 1826 कोवैक्सिन की खुराक दी गई। प्रशासक ने शहर में टीकाकरण अभियान चलाने के लिए स्वास्थ्य विभाग के प्रयासों की सराहना की।

केरल में 38,417 किशोरों का टीकाकरण
केरल में, टीकाकरण अभियान के पहले दिन लगभग 38,417 बच्चों को टीका लगाया गया। तिरुवनंतपुरम सोमवार को जिले में 9338 बच्चों के टीकाकरण के साथ सूची में सबसे ऊपर है। कोल्लम के बाद 6868 बच्चों का टीकाकरण किया गया, इसके बाद त्रिशूर (5018) का स्थान रहा। बच्चों के लिए कुल 551 टीकाकरण केंद्र बनाए गए थे।

हरियाणा में 15 लाख 40 हजार बच्चों को लगेगी वैक्सीन
अंबाला में 15-18 आयु वर्ग के लिए वैक्सीनेशन अभियान के शुभारंभ में हरियाणा स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा, “आज से 15 से 18 साल के बच्चों के वैक्सीनेशन अभियान का शुभारंभ हुआ है। हरियाणा में इस श्रेणी के 15 लाख 40 हजार बच्चें हैं। हम इस अभियान को 10 दिन में पूरा कर लेंगे।” उन्होंने कहा, “हमारे पास पर्याप्त मात्रा में वैक्सीन का स्टॉक है। हरियाणा में हम 98% लोगों को कोरोना की पहली डोज और लगभग 71% लोगों को दूसरी डोज़ लगा चुके हैं। 10 जनवरी से हेल्थ स्टाफ, फ्रंट लाइन वर्कर और 60 साल से ऊपर की आयु के लोगों का वैक्सीनेशन अभियान चलाया जाएगा।”