भारतीय दवा कंपनी पर गंभीर आरोप, आई ड्रॉप डालने से चली गई आंखों की रोशनी, एक की मौत

114

एक भारतीय दवा कंपनी पर आरोप लगा है कि उसकी आई ड्राप इस्तेमाल करने से अमेरिका में लोगों की आंखों की रोशनी चली गई जबकि एक की मौत हो गई इसके बाद चेन्नई स्थित कंपनी ने दवा का प्रोडक्शन बंद कर दिया है अमेरिका ने एजरी केयर आर्टिफीसियल टीयर्स आई ड्रॉप को इस्तेमाल नहीं करने की सलाह दी है यूएस सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रीवेंशन चेन्नई स्थित ग्लोबल फार्मा हेल्थ केयर द्वारा बनाई गई एजरी केयर आर्टिफिशियल टियर्स आई ड्रॉप्स की बोतलों का परीक्षण कर रहा है।

इसे भी पढ़े : सपना चौधरी पर दहेज प्रताड़ना का केस हुआ दर्ज, भाई पर अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने का आरोप

दरअसल इन्वेस्टमेंट एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन का कहना है कि वह इन आई ड्रॉप के इंपोर्ट पर बैन लगाने की ओर बढ़ रहा है एजेंसी ने कहा एफडीए लोगो और डॉक्टरों को संभावित बैक्टीरियल इनफेक्शन के कारण एजरी केयर आर्टिफिशियल टियर्स आई ड्राप का तुरंत इस्तेमाल बंद करने के लिए चेतावनी दे रहा है इस आई ड्राप का इस्तेमाल करने से आंखों में संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है जिसकी वजह से आंखों की रोशनी जा सकती है और मौत तक हो सकती है।