भारी उतार-चढ़ाव के बाद हरे निशान के साथ बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 0.15 फीसद की तेजी, निफ़्टी में भी रही मामूली बढ़त

193

घरेलू शेयर बाजारों में शुक्रवार को काफी अधिक उतार-चढ़ाव का रुख देखने को मिला। सेंसेक्स और निफ़्टी पर सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में मुनाफावसूली का दबाव देखने को मिला और दोनों प्रमुख सूचकांकों में एक-समय में अच्छी खासी गिरावट आ गई थी। हालांकि, दोपहर के सत्र में सेंसेक्स में अच्छी-खासी रिकवरी देखने को मिली। इस तरह सेंसेक्स शुक्रवार को 70.35 अंक यानी 0.15 फीसद की तेजी के साथ 46,960.69 अंक के स्तर पर बंद हुआ। दूसरी ओर, निफ़्टी 19.80 अंक यानी 0.14 फीसद की तेजी के साथ 13,760.50 अंक के स्तर पर बंद हुआ।

सेक्टोरल इंडेक्स की बात की जाए तो आईटी और फार्मा सेक्टर के शेयर एक फीसद के उछाल के साथ बंद हुए। दूसरी ओर, बैंक, एनर्जी, मेटल और इन्फ्रा सेक्टर के शेयरों में बिकवाली देखी गई।

सेंसेक्स सप्ताह के आखिरी कारोबारी सत्र में अब तक के सर्वकालिक उच्च स्तर 47,026.02 अंक पर खुला था लेकिन उसके बाद उसमें गिरावट देखने को मिली। हालांकि, दोपहर के सत्र में सेंसेक्स थोड़ा संभला और बाजार हरे निशान के साथ बंद हुए।

सेंसेक्स पर इनफ़ोसिस के शेयरों में सबसे ज्यादा 2.64 फीसद की बढ़त देखने को मिली। इसके अलावा बजाज ऑटो, स्टेट बैंक, आईसीआईसीआई बैंक, एचसीएल टेक, टाइटन, एशियन पेंट, टीसीएस, आईटीसी, हिन्दुस्तान यूनिलीवर लिमिटेड, सन फार्मा, एक्सिस बैंक, लार्सन एंड टुब्रो, टेक महिंद्रा, रिलायंस, नेस्ले इंडिया और महिंद्रा एंड महिंद्रा के शेयर हरे निशान के साथ बंद हुए।

दूसरी ओर, इंडसइंड बैंक के शेयरों में 3.30 फीसद की सर्वाधिक गिरावट देखने को मिली। इसके अलावा ओएनजीसी के शेयर में 2.51 फीसद, एचडीएफसी बैंक के शेयर में 2.09 फीसद, मारुति के शेयर में 1.64 फीसद और बजाज फिनजर्व के शेयर में 0.84 फीसद की गिरावट देखने को मिली। इनके अलावा भारती एयरटेल, कोटक महिंद्रा बैंक, एनटीपीसी, एचडीएफसी, टाटा स्टील, बजाज फाइनेंस, अल्ट्राटेक सीमेंट और पावरग्रिड के शेयर लाल निशान के साथ बंद हुए।

रिलायंस सिक्योरिटीज में प्रमुख (रणनीति) बिनोद मोदी ने कहा कि बैंकिंग स्टॉक में रिकवरी से घरेलू शेयर बाजारों में दिन के निचले स्तर से रिकवरी देखने को मिली।

शेयर बाजार के अस्थायी आंकड़ों के मुताबिक विदेशी पोर्टफोलियो निवेशकों ने गुरुवार को 2,355.25 करोड़ रुपये मूल्य के शेयरों की लिवाली की।

अन्य एशियाई बाजारों की बात की जाए तो सिओल में शेयर बाजार हरे निशान के साथ बंद हुए। दूसरी ओर, शंघाई, हांगकांग और टोक्यो में शेयर बाजार गिरावट के साथ बंद हुए। यूरोपीय बाजारों में शुरुआती कारोबार में मिला-जुला रुख देखने को मिल रहा है।