सेंसेक्स ने फिर पकड़ी रफ्तार, RRVL 47,265 करोड़ रुपये जुटाने की प्रक्रिया पूरी, RIL के शेयर में 2 फीसदी की गिरावट

428

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने अपनी रिटेल कंपनी रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड में कुछ विदेशी निवेशकों को 10 प्रतिशत हिस्सेदारी बेचकर 47,265 करोड़ रुपये जुटाने की प्रक्रिया पूरी कर ली है. इस खबर के बाद शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार में रिलायंस के शेयर भाव 1 फीसदी से ज्यादा लुढ़क गए. फिलहाल, कंपनी का शेयर भाव 2000 रुपये से नीचे आ चुका है.

हालांकि, भारतीय शेयर बाजार ने एक बार फिर रफ्तार पकड़ ली है. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स और निफ्टी, दोनों ने ही बढ़त दर्ज की. शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स 150 अंक मजबूत होकर 43,800 अंक के स्तर पर पहुंच गया. वहीं, निफ्टी ने भी 40 अंकों की मजबूती के साथ 12,800 अंक को पार कर लिया. इस दौरान टाइटन, टाटा स्टील, एनटीपीसी, एचसीएल और टेक महिंद्रा के शेयर में मजबूती रही.

भारती एयरटेल की बात करें तो शेयर में मामूली बढ़त रही. बता दें कि भारती इंफ्राटेल और इंडस टावर के विलय की प्रक्रिया पूरी हो गयी है. आपको बता दें कि विलय के तहत वोडाफोन आइडिया को इंडस टावर में 11.15 प्रतिशत हिस्सेदारी के एवज में 3,760.1 करोड़ रुपये नकद मिले हैं. वहीं, विलय के बाद अस्तित्व में आयी इकाई में वोडाफोन समूह की हिस्सेदारी 28.12 प्रतिशत होगी जबकि एयरटेल समूह की हिस्सेदारी करीब 36.7 प्रतिशत होगी. 

शेयर खरीद-फरोख्त के बाजार में ब्रोकरेज पर छूट को लेकर छिड़ी प्रतिस्पर्धा के बीच कोटक सिक्योरिटीज ने इंट्रा टेड में कारोबार करने पर ब्रोकरेज शुल्क नहीं लेने की घोषणा की है. कंपनी ने कहा कि अन्य सभी तरह के कारोबार के लिए ग्राहकों को 20 रुपये प्रति लेनदेन का शुल्क देना होगा. इस तरह के लेनदेन और अन्य किसी उत्पाद की खरीद-फरोख्त से कंपनी अपनी आय करेगी. 

बीते कुछ दिनों की बढ़त के बाद गुरुवार को शेयर बाजार की तेजी पर ब्रेक लग गया. सेंसेक्स उतार-चढ़ाव भरे कारोबार में कुछ समय के लिए 44,230 अंक के उच्चस्तर पर जाने के बाद नीचे आया. अंत में सेंसेक्स 580 अंक या 1.31 प्रतिशत के नुकसान से 43,600 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 166.55 अंक या 1.29 प्रतिशत के नुकसान से 12,771 अंक पर आ गया. दिन में कारोबार के दौरान निफ्टी 12,963 अंक के उच्चस्तर तक गया.