जम्मू-कश्मीर: स्वतंत्रता दिवस से पहले शहर की सुरक्षा चाक-चौबंद, मंदिरों और प्रमुख स्थलों की सुरक्षा बढ़ाई गई, एमए स्टेडियम पर कड़ा पहरा

398

स्वतंत्रता दिवस पर सुरक्षा के लिए सुरक्षा एजेंसियों ने पूरी ताकत झोंक दी है। आसमान से लेकर जमीन तक चप्पे-चप्पे की निगरानी की जा रही है। पुलिस के साथ सेना ने भी सीमांत इलाकों और शहर में रात को गश्त बढ़ा दी है। हेलीकॉप्टर से रात को संवेदनशील इलाकों में सर्च ऑपरेशन चलाया जा रहा है। साथ ही कई जगहों पर सेना के अतिरिक्त जनाव तैनात किए गए हैं। पुलिस भी 24 घंटे जम्मू शहर के चौक-चौराहों और अन्य संवेदनशील इलाकों में नाके लगाकर वाहनों की जांच कर रही है। हर आने-जाने वाले पर कड़ी नजर रखी जा रही है। बुधवार को पुलिस अधिकारियों ने शहर का दौरा कर सुरक्षा बंदोबस्त का जायजा लिया। सीमावर्ती इलाकों में बीएसएफ, सेना और पुलिस मिलकर गश्त कर रही है।

सरपंच और पंच भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं कि कहीं पर कोई संदिग्ध वस्तु या व्यक्ति दिखने पर तुरंत पुलिस को सूचित करें।

जम्मू के एमए स्टेडियम की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। स्टेडियम के पास तवी नदी में भी पुलिस ने गश्त शुरू कर दी है। बुधवार को पुलिस, एसओजी और अर्धसैनिक बलों की टुकड़ियों ने शहर में कई जगहों पर संदिग्ध क्षेत्रों में तलाशी अभियान चलाया। लोगों से पूछताछ की गई।  

पुलिस प्रशासन ने शहर के प्रसिद्ध रघुनाथ मंदिर, रणवीरेश्वर मंदिर, पीरखो मंदिर, लक्ष्मीनारायण मंदिर, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट की सुरक्षा बढ़ा दी है। इन जगहों पर एसओजी, डॉग स्क्वायड और कमांडो की मदद से बुधवार को जांच अभियान चलाकर सुरक्षा बंदोबस्त की समीक्षा की गई।

रात को गश्त बढ़ाई गई है। संवेदनशील जगहों पर अतिरिक्त नाकों के साथ कुछ जगह चिह्नित की गई हैं, यहां से आतंकी घुसपैठ कर सकते हैं। इन सबको लेकर अतिरिक्त बंदोबस्त किए गए हैं। सुरक्षा एक चुनौती है, लेकिन इससे निपटने के लिए हर तरफ से काम किया जा रहा है।