Russia-Ukraine War: बेनतीजा रही दोनों देशों के बीच की बैठक, UNHRC की मीटिंग पर तटस्थ रहा भारत

    382
    Russia-Ukraine-Belarus-Meeting

    यूक्रेन और रूस के बीच जारी युद्ध का आज छठा दिन है. यूक्रेन की राजधानी कीव में बमबारी का सिलसिला जारी है, कुछ ऐसे ही हालात खारकीव शहर के भी हैं. इस बीच दोनों देशों ने बातचीत का रास्ता भी अख्तियार किया है लेकिन फिलहाल यह बातचीत किसी नतीजे पर नहीं पहुंची है. यूक्रेन के राष्ट्रपति ने दावा किया है कि रूस ने बातचीत के बाद हमलों को और तेज कर दिया है. दूसरी तरफ आज संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद का विशेष सत्र बुलाया गया, जहां तत्काल बैठक बुलाने का प्रस्ताव दिया गया. इसमें भारत ने तटस्थ रहने का फैसला किया. बैठक के पक्ष में 29 वोट पड़े. वहीं इसके 5 खिलाफ वोट डाले गए जबकि 13 सदस्यों ने तटस्थ रहने का फैसला किया. UN में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि यूक्रेन में हो रहे घटनाक्रमों पर भारत चिंतित है. उन्होंने कहा कि हिंसा की तत्काल समाप्ति को समाप्त करने के लिए हमारा सुविचारित आह्वान एक तत्काल अनिवार्यता है.

    तिरुमूर्ति ने मीटिंग में कहा कि विवादों का शांतिपूर्ण समाधान भारत की सतत स्थिति रही है. भारत सरकार का मानना है कि कूटनीति के रास्ते पर लौटने के अलावा और कोई विकल्प नहीं है. उन्होंने कहा कि भारत यूक्रेन में फंसे भारतीय नागरिकों की तत्काल निकासी के प्रयास करने के लिए जो कुछ भी कर सकता है वह कर रहा है.इस महत्वपूर्ण मानवीय आवश्यकता को तुरंत संबोधित किया जाना चाहिए.

    टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि मैं यूक्रेन के सभी पड़ोसी देशों को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने हमारे नागरिकों के लिए अपनी सीमाएं खोली और कर्मियों को सुविधाएं दी. हम अपने पड़ोसी और विकासशील देशों के फंसे लोगों की मदद के लिए तैयार हैं.