राष्ट्रपति कोविंद ने युवा सम्मलेन को किया सम्बोधित, बोले- आज का युवा जॉब सीकर से जॉब क्रिएटर बनने के पथ पर अग्रसर है

151
Ramnath Kovind addresses Yuva Sammelan

देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज यानि शनिवार को दिल्ली के विज्ञानं भवन में ‘माय होम इंडिया’ द्वारा आयोजित युवा सम्मेलन को सम्बोधित किया। राष्ट्रपति ने कहा भारत में किशोर और युवाओं की संख्या संपूर्ण विश्व में सबसे अधिक है। United Nations Population Fund के एक अनुमान के अनुसार, भारत 2030 तक दुनिया की सबसे अधिक युवा आबादी वाले देशों की सूची में सबसे ऊपर रहेगा। इसे Demographic Dividend कहते हैं। यह स्थिति हमारे देश के लिए एक सुअवसर है।

उन्होंने कहा – भारतीय युवा अपनी शिक्षा एवं उद्यम से हर क्षेत्र में उच्चतम श्रेणी पर पहुँच चुके हैं। चिकित्सा, तकनीकी और प्रौद्योगिकी – सभी क्षेत्रों में – भारतीय युवाओं ने महत्त्वपूर्ण उपलब्धि हासिल की है। यह हम सब के लिए अत्यंत गर्व की बात है कि अपनी प्रतिभा के बल पर आज भारतीय युवाओं ने अनेक स्टार्ट-अप्स की नींव रखी है। आज का युवा जॉब सीकर से जॉब क्रिएटर बनने के पथ पर अग्रसर है। यह एक ऐसी पहल है जिसे संपूर्ण विश्व में सराहा जा रहा है।

अपने सम्बोधन के अंत में राष्ट्रपति कोविंद बोले – भारत की धरती सदैव ही अपने आंचल में विभिन्न सभ्यताओं एवं परम्पराओं को संवारती रही है। आज आप सब का इस सभा में एकत्रित होना भी अनेकता में एकता का स्वर्णिम प्रतीक है। यह हमारे युवा पर ही निर्भर करेगा कि वे भविष्य में इस एकता को और मजबूत बनाएं।