रक्षा मंत्रालय ने 101 रक्षा उपकरणों और हथियारों के आयात पर पाबंदी के मामले में जारी किया स्पष्टीकरण

206

101 रक्षा उपकरणों और हथियारों के आयात पर पाबंदी लगाने के फैसले के एक दिन बाद सोमवार को रक्षा मंत्रालय ने स्पष्टीकरण जारी किया है। दरअसल, रक्षा उपकरणों और हथियारों की प्रतिबंधित सूची में हल्के लड़ाकू विमान एलसीए मार्क-1ए, पिनाक रॉकेट प्रणाली और आकाश मिसाइल प्रणाली जैसी भारत में ही बनने वाली कुछ वस्तुओं को शामिल किए जाने पर मीडिया में सवाल उठाए गए थे।

इसके बाद रक्षा मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा है कि एलसीए एमके-1ए, पिनाक रॉकेट सिस्टम, आकाश मिसाइल सिस्टम जैसी प्रणाली रक्षा बलों की जरूरतों के मुताबिक विकसित की जाती हैं। ऐसी प्रणाली अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी उपलब्ध हैं।

मंत्रालय ने कहा, ऐसी हथियार प्रणालियों के नाम को इस सूची में शामिल किया गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सेना इस तरह की समान गुणवत्ता वाली प्रणालियों की सामग्री की खरीद के लिए आगे कोई पहल नहीं करे।

साथ ही ऐसे उपकरणों या हथियारों की खरीद पर प्रतिबंध लगाना है जो समान गुण वाली जरूरतों को पूरा करते हैं, लेकिन अक्सर अलग-अलग नामों के तहत इनका करार किया जाता रहा है।