पाकिस्तान में ‘मिसाइल दागने’ वाले मुद्दे पर राजनाथ सिंह का बयान – अनजाने में हुई घटना, उच्च स्तरीय जांच के आदेश दिए गए

    612
    Rajnath-Singh

    पाकिस्तान (Pakistan) पर ‘अनजाने में मिसाइल’ गिराने को लेकर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Rajnath Singh) ने मंगलवार को संसद में बयान दिया है. उन्होंने राज्यसभा में सदन को जानकारी देते हुए कहा कि सरकार ने इस मुद्दे को बहुत ही गंभीरता से लिया है. इसके लिए औपचारिक उच्च स्तरीय जांच के आदेश भी दे दिए गए हैं. जांच के बाद ही दुर्घटना के सटीक कारण का पता लग पाएगा. बता दें कि बीते हफ्ते पाकिस्तान के पंजाब प्रांत में गलती से भारतीय मिसाइल गिर गई थी. घटना के दो दिन बाद शुक्रवार को भारत सरकार ने गलती से दागी मिसाइल (Missile) के लिए पाकिस्तान से क्षमा मांग ली थी.

    रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि हमारा मिसाइल सिस्टम अत्यंत सुरक्षित है. इसके अलावा हमारी सुरक्षा प्रक्रियाएं और प्रोटोकॉल उच्च स्तरीय हैं और समय-समय पर इसकी समीक्षा की जाती है. हमारे सशस्त्र बल अच्छी तरह से प्रशिक्षित और अनुशासित हैं और ऐसी प्रणालियों को संभालने में अच्छी तरह से अनुभवी हैं. उन्‍होंने कहा, ‘आज मैं 9 मार्च, 2022 को हुई एक घटना के बारे में जानकारी देना चाहता हूं. यह घटना निरीक्षण के दौरान एक मिसाइल के अनजाने में छोड़े जाने से संबंधित है. नियमित रखरखाव और निरीक्षण के दौरान लगभग 7 बजे गलती से एक मिसाइल को छोड़ दिया गया था.’

    जांच से दुर्घटना के सही कारण का पता चलेगा- रक्षामंत्री
    रक्षा मंत्री ने आगे कहा कि हम अपने हथियार प्रणालियों की सुरक्षा और सुरक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हैं. यदि कोई कमी पाई जाती है तो उसे तत्काल दूर किया जाएगा. उन्‍होंने कहा कि इस जांच से दुर्घटना के सही कारण का पता चलेगा. मैं यह भी बताना चाहूंगा कि इस घटना के मद्देनजर संचालन, रखरखाव और निरीक्षण के लिए मानक संचालन प्रक्रियाओं की समीक्षा की जा रही है.

    रक्षा मंत्रालय ने घटना पर क्‍या कहा था
    भारत के रक्षा मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बयान में कहा, ‘पता चला है कि मिसाइल पाकिस्तान के एक इलाके में गिरी. यह घटना अत्यंत खेदजनक है, राहत की बात है कि कोई जनहानि नहीं हुई.’ बयान में कहा गया, ‘तकनीकी खराबी के कारण नौ मार्च को नियमित रखरखाव के दौरान दुर्घटनावश एक मिसाइल चल गई. भारत सरकार ने दुर्घटनावश मिसाइल चल जाने की घटना को गंभीरता से लिया है और उच्च स्तरीय ‘कोर्ट ऑफ इंक्वायरी’ के आदेश दिए हैं.’

    घटना पर पाक के व‍िदेश मंत्री ने क्‍या कहा
    पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने सोमवार को कहा कि भारत से दुर्घटनावश चली मिसाइल के पाकिस्तानी क्षेत्र में गिरना एक ‘गंभीर मामला’ है, जिसका समाधान नई दिल्ली द्वारा महज ‘सतही सफाई’ देने से नहीं किया जा सकता है. पाकिस्तान के विदेश मंत्रालय द्वारा जारी एक बयान के अनुसार, कुरैशी ने अपनी जर्मन समकक्ष एनालेना बारबॉक के साथ टेलीफोन पर बातचीत के दौरान यह टिप्पणी की. बयान के मुताबिक कुरैशी ने नौ मार्च को भारतीय मिसाइल द्वारा पाकिस्तान के हवाई क्षेत्र का उल्लंघन किए जाने की बारबॉक को जानकारी दी.