अशोक गहलोत: हमारे साथी वापस आ गए, सब आपस में मिलकर काम करेंगे

288
FILE PHOTO

राजस्थान का दंगल अब खत्म हो गया है. केंद्रीय आलाकमान के आदेश के बाद सचिन पायलट और अशोक गहलोत में सुलह होती दिख रही है. समस्याओं के समाधान का भरोसा मिलने के बाद सचिन पायलट भी जयपुर वापस लौट आए हैं. इस बीच बुधवार सुबह मुख्यमत्री अशोक गहलोत का बयान सामने आया, उन्होंने कहा कि हम सभी अब मिलकर काम करेंगे जो वापस आए हैं वो भी साथ रहेंगे.

राजस्थान सीएम ने कहा कि जो ऐपिसोड हुआ है एक प्रकार से भूलो और माफ करो की स्थिति में रहें, सब मिलकर चलें क्योंकि प्रदेशवासियों ने विश्वास करके हमारी सरकार बनाई थी. हमारी सबकी ज़िम्मेदारी उस विश्वास को बनाए रखने और प्रदेश की सेवा करने की बनती है.

पायलट गुट के विधायकों को वापस लेने पर अपने समर्थकों की नाराजगी पर अशोक गहलोत ने कहा कि उनकी नाराजगी स्वाभाविक है, 1 महीने तक परेशान रहे और होटल में रहे. मगर हमारे नाराज विधायकों को मनाया जाएगा, उनकी नाराजगी दूर करने के प्रयास किए जाएंगे.

अशोक गहलोत बोले कि हम सब आपस में मिलकर काम करेंगे, जो हमारे साथी चले गए थे वो भी वापस आ गए हैं. मुझे उम्मीद है कि सब गिले-शिकवे दूर करके सब मिलकर प्रदेश की सेवा करने का संकल्प पूरा करेंगे. बता दें कि 14 अगस्त को शुरू होने वाले विधानसभा सत्र से पहले सचिन पायलट अपने साथी विधायकों के साथ जयपुर पहुंच गए हैं और अब सत्र में हिस्सा लेंगे. गौरतलब है कि इससे पहले मंगलवार को भी सचिन पायलट की ओर से बयान दिया गया था कि वह किसी से खफा नहीं हैं और ना ही वो किसी तरह का ईगो रखते हैं.

हालांकि, सचिन पायलट ने ये भी कहा था कि जिस तरह की भाषा का प्रयोग किया गया, उससे उन्हें ठेस पहुंची थी लेकिन वह घूंट पीकर रह गए. अब जब बागी विधायक वापस जयपुर लौट रहे हैं, तो उन्हें आश्वासन मिला है कि अब खरीद-फरोख्त मामले में पुलिस जांच नहीं होगी. इसके अलावा राजद्रोह का मुकदमा भी वापस ले लिया गया है. सीएम ने कहा था कि जो भी विधायक नाराज हैं, उन्हें संतुष्ट करना उनकी जिम्मेदारी है और हर कोई अब साथ रहेगा.