रेलमंत्री ने फ्रेट कॉरिडोर समय पर पूरा करने के लिए, खुद संभाली कमान

365

कोरोना महामारी के कारण रेल योजनाओं को रफ्तार देने के लिए मंत्रालय ने कमर कस ली है। रेलमंत्री पीयूष गोयल ने सोमवार को समर्पित माल गलियारे (डेडिकेटेड फ्रे ट कॉरिडोर) परियोजना की समीक्षा की। परियोजना को पूरा करने के लिए खुद रेलमंत्री ने कमान संभाल ली है।

अधिकारियों के साथ बैठक में गोयल ने सख्त निर्देश दिया कि हर हाल में दिसंबर 2021 तक लक्ष्य को पूरा करने के लिए मिशन मोड में काम किया जाए। रेलमंत्री ने समीक्षा बैठक में कोरोना महामारी के कारण काम में आई सुस्ती की भरपाई के लिए रफ्तार बढ़ाने को कहा। उन्होंने कहा कि भूमि अधिग्रहण का काम तेजी से पूरा किया जाए। साथ ही हर सप्ताह प्रगति की समीक्षा की जाए और पूरी रिपोर्ट मंत्रालय को सौंपी जाए। इस कॉरिडोर के बन जाने से रोजगार के साथ सामानों की ढुलाई सुगम होगी और आर्थिक स्थिति भी बेहतर होगी।

मालगाड़ी के लिए समर्पित कॉरिडोर होने से यात्री ट्रेनों की संख्या बढ़ाने के साथ गति सीमा भी बढ़ाई जाएगी। दरअसल पिछले दिनों रेलवे बोर्ड के अध्यक्ष विनोद कुमार यादव ने कहा था कि कोरोना के कारण फ्रे ट कॉरिडोर का निर्माण अपने लक्ष्य से पिछड़ गया है।