टीकाकरण नीति पर राहुल का प्रधानमंत्री मोदी पर तंज , कहा- यदि फ्री वैक्सीन है तो निजी अस्पतालों को शुल्क क्यों वसूलना चाहिए

313
rahul gandhi
rahul gandhi

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार की टीकाकरण नीति पर सवाल उठाया है। उन्होंने सोमवार को ट्वीट किया, एक साधारण सा सवाल है। यदि हर किसी के लिए टीकाकरण मुफ्त है, तो निजी अस्पतालों को इसके लिए शुल्क क्यों वसूलना चाहिए? इस ट्वीट के साथ उन्होंने फ्री वैक्सीन फार आल का हैशटैग भी लगाया है।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा- पीएम ने फ्री वैक्सीन पर काफी देरी से लिया फैसला

इस बीच, देश में सभी लोगों को कोरोना की फ्री वैक्सीन देने के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एलान पर बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने सोमवार को ट्वीट कर कहा कि काफी दबाव के बाद केंद्र ने यह मांग मानी है। ममता ने साथ ही आरोप लगाया कि पीएम ने फ्री वैक्सीन पर काफी देरी से फैसला लिया है। वह पिछले चार महीने से देश में सभी लोगों को फ्री वैक्सीन की मांग कर रही थीं।

18 पार के लोगों को मुफ्त टीका, गरीबों को मुफ्त राशन देने के लिए भाजपा ने की मोदी की सराहना

की है। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्वीट किया कि जनता की सुरक्षा और स्वास्थ्य के प्रति मोदी सरकार ने सदैव संकल्पबद्ध होकर कार्य किया है। इसी क्रम में देशभर में 18 वर्ष से ऊपर की आयु के सभी नागरिकों को कोरोना का मुफ्त टीका उपलब्ध कराने के ऐतिहासिक निर्णय पर प्रधानमंत्री मोदी को हृदय से धन्यवाद देता हूं। शाह ने कहा कि भारत को कोरोना मुक्त बनाने की दिशा में यह एक महत्वपूर्ण कदम है।

मोदी सरकार हर भारतीय के साथ खड़ी

भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रधानमंत्री का आभार प्रकट करते हुए ट्वीट किया कि कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में मोदी सरकार हर भारतीय के साथ खड़ी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी प्रधानमंत्री की घोषणा का स्वागत किया है। उन्होंने ट्वीट किया कि सभी वयस्कों को मुफ्त में टीका देने का एलान कर प्रधानमंत्री मोदी ने देशवासियों को भारी राहत दी है। इससे कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई को नया बल मिलेगा। इस लोक कल्याणकारी फैसले के लिए मैं प्रधानमंत्री को हृदय से धन्यवाद देता हूं।

केंद्र सरकार अब अपने खर्च पर लोगों का टीकाकरण करेगी

केंद्रीय पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने कहा कि यह एक ऐतिहासिक फैसला है। प्रधानमंत्री ने देशवासियों की इच्छा के अनुरूप काम किया है। केंद्र सरकार अब अपने खर्च पर लोगों का टीकाकरण करेगी।